in

किसान से ठगे 24 लाख रुपये, आप भी रहिये सावधान….

किसान से ठगे 24 लाख रुपये, आप भी रहिये सावधान….

आस्ट्रेलिया में पढ़ना चाहता था लड़का…

जिन लोगों के मन मे कोई स्वप्न होता है वह अपने सपनो को पूरा करने के लिये किसी भी हद तक जा सकते हैं और बड़ी से बड़ी कीमत भी चुका सकते हैं परंतु सामाजिक व्यवस्था के कारण कई बार हमारे सभी प्रयास और बड़ी से बड़ी कुर्बानियाँ फीकी पड़ जाती हैं।

ऐसी ही एक वारदात एक छात्र के साथ हुई जिसके तहत उसके सपनो को पंख देने के नाम पर उसके पिता से 24 लाख रुपये की ठगी कर ठग फरार हो गये।

BKD School
BKD School

आस्ट्रेलिया में पढ़ना चाहता था लड़का…

आम तौर पर आपने लोगों को गलत शौक पालने के चक्कर मे पैसा उड़ाते हुये देखा होगा परंतु यह कहानी कुछ अलग है यहाँ जिस लड़के के साथ ठगी हुई है वह कोई गलत शौक नही पाल रहा था बल्कि वह पढ़ने का सपना देख रहा था।

जी हाँ उसका सपना था कि ऑस्ट्रेलिया में जाकर पढ़े और उसके इसी सपने को पूरा करने का लालच देकर कुछ लोग उसको बेवकूफ बनाकर 24 लाख रुपये लेकर फरार हो गए।

40 लाख की थी डिमांड, 24 एडवांस में दिये..

आरोपियों ने छात्र को ऑस्ट्रेलिया पढ़ने भेजने के एवज में उसके पिता से 40 लाख रुपये की माँग की थी परंतु पूरी रकम इकट्ठा न कर पाने पर उसके पिता ने 24 लाख रुपये उन लोगों को एडवांस में दिये थे,परंतु पैसा लेने के बाद मामला बदल गया।

आरोपियों ने न तो लड़के तो ऑस्ट्रलिया भेजा और न ही 24 लाख रुपये वापस किये, उल्टे अपनी ऊँची पहुँच का हवाला देते हुये परिवार को धमकाने लगे, अब इस संदर्भ में किसान व उसके छात्र पुत्र ने पुलिस अधीक्षक के यहाँ शिकायत दर्ज कराई है।

हरियाणा का है मामला, टेहा गाँव के हैं आरोपी…

यह खबर हरियाणा के सोनीपत के एक गांव खेवड़ा की है जहाँ पर 12 वी पास छात्र मंदीप और उसके पिता जय भगवान ठगी का शिकार हो गए।

बता दें कि टेहा गाँव के निवासी कृष्ण कुमार और उसके पिता जगदीश ने मनदीप और उसके पिता को बताया कि वह लड़को को पढ़ने के लिये विदेश भेजते हैं और वह मनदीप को भी भेज सकते हैं इसके लिये उन्होंने 40 लाख रुपये मांगे जिनमे से 24 लाख उन्हें एडवांस में दिया गया जिसके बाद वह अपनी बात से मुकर गये और उस किसान का पैसा ठगी का शिकार हो गया।

प्रशासन ने दिया कार्यवाही का भरोसा…

यद्यपि पीड़ित परिवार इस मामले की जांच एस पी निकिता खट्टर से कराने की मांग कर रहा है तथापि स्थानीय प्रशासन ने यह आश्वासन दिया है कि वह जल्द ही प्रशासनिक कार्यवाही करते हुये उन्हें न्याय दिलायेंगे तथा पैसा वापस करवाते हुये आरोपियों को कठोर सजा देंगे।

बहरहाल यह समझने का विषय है कि आज के समय मे स्कैम अलग अलग रूपों में चल रहा है अतः हमें किसी भी तरह का कोई निर्णय करने से पहले बहुत बारीकी से सोंचना चाहिए।

Written by Newsghat Desk

शिक्षा मंत्री गोविन्द ठाकुर सहित सीएम के ओएसडी कोरोना पाॅजिटिव..

पुलिस की दादागिरी, पहले दुकानदार का किया चालान, फिर महिलाओं बच्चों के सामने घसीटा