in

डिजिटल पेमेंट सिस्टम 2022: क्यों हर तीन में से दो युवा कर रहे यूपीआई को पसंद, भारत ने कई देशों को पीछे छोड़ा, जानें यूपीआई में किन देशों को पछाड़ा

डिजिटल पेमेंट सिस्टम 2022: क्यों हर तीन में से दो युवा कर रहे यूपीआई को पसंद, भारत ने कई देशों को पीछे छोड़ा, जानें यूपीआई में किन देशों को पछाड़ा
डिजिटल पेमेंट सिस्टम 2022: क्यों हर तीन में से दो युवा कर रहे यूपीआई को पसंद, भारत ने कई देशों को पीछे छोड़ा, जानें यूपीआई में किन देशों को पछाड़ा

डिजिटल पेमेंट सिस्टम 2022: क्यों हर तीन में से दो युवा कर रहे यूपीआई को पसंद, भारत ने कई देशों को पीछे छोड़ा, जानें यूपीआई में किन देशों को पछाड़ा

आपको बता दे कि डिजिटल पेमेंट के मामले में भारत दुनिया के सभी देशों को पीछे छोड़कर पहले पायदान पर आ गया है। हाल ही में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को हैदराबाद में इस उपलब्धि का जिक्र किया गया है।

उन्‍होंने कहा, ‘भारत एक युवा देश है, जिसका कुछ नया सोचने का जज्बा गजब का है, और हम दुनिया के शीर्ष स्टार्टअप केंद्र हैं, ऐसे में आज देश में 2021 के बाद से यूनिकॉर्न स्टार्ट-अप की संख्या करीब दोगुनी हो गई है।

यह भारत की युवा आबादी के कारण है, और ’ जानिए डिजिटल पेमेंट के मामले में भारत ने किन देशों को पीछे छोड़ा तथा भारतीय डिजिटल पेमेंट का कौन सा तरीका पसंद कर रहे हैं।

• सेंटर फॉर इकोनॉमिक्‍स एंड बिजनेस रिसर्च की रिपोर्ट के मुताब‍िक, 2021 में चीन में 1,850 करोड़ डिजिटल ट्रांजेक्‍शन हुआ है, और चीन के मुकाबले भारत में यह आंकड़ा ढाई गुना से अध‍िक रहा है, तथा पिछले साल भारत में 4860 करोड़ डिजिटल ट्रांजेक्‍शन हुआ है।

Holi-2
Holi-2

• देश में डिजिटल पेमेंट के लिए सबसे ज्‍यादा यूपीआई का उपयोग किया जा रहा है और 67 फीसदी भारतीय इसके जरिये भुगतान करते हैं।

• और तीन चौथाई डिजिटल पेमेंट प्राइवेट बैंक के जरिये किए जा रहे हैं, तथा आज के समय में सरकारी बैंकों की हिस्‍सेदारी मात्र 18 फीसदी है।

• आज के समय में ड‍िजिटल पेमेंट करने में सबसे आगे महाराष्‍ट्र के लोग हैं, और इसके बाद दक्षिण भारत के लोग हैं जो डिजिटल पेमेंट को अपना रहा है।

क्या आप जानते हैं यूपीआई को पहले ही अपना चुके ये देश

आपको बता दे कि यूपीआई (UPI) पूरी तरह से स्वदेशी डिजिटल पेमेंट इंटरफेस (Digital Payment Interface) है, और यह इतना सिंपल तथा सिक्योर है कि अमेरिकी सेंट्रल बैंक फेडरल रिजर्व (Federal Reserve) भी इसकी तारीफ कर चुका है।

इसके साथ ही गूगल ने भी अमेरिका में यूपीआई को अमल में लाने या उसके जैसी कोई टेक्नोलॉजी डेवलप करने की मांग किया था, और अभी यूपीआई का उपयोग भारत के बाहर भी होने लगा है, और पड़ोसी देश नेपाल ने हाल ही में यूपीआई (UPI In Nepal) को अपनाया गया है।

सिंगापुर, संयुक्त अरब अमीरात तथा भूटान भी यूपीआई को अपना चुके हैं, इसके साथ ही भारत में गूगल पे (Google Pay), अमेजन पे (Amazon Pay), पेटीएम (Paytm) , भीम (BHIM UPI), भारतपे (BharatPe), तथा फोनपे (PhonePe) आदि जैसे सारे डिजिटल पेमेंट ऐप यूपीआई इंटरफेस (UPI Interface) पर ही बेस्ड हैं।

व्हाट्सएप पर न्यूज़ घाट समाचार समूह से जुड़ने के लिए नीचे दिए लिंक को क्लिक करें।

Written by newsghat

Latest Festive Offer 2022: वाह अब SBI और HDFC ने अपने खाताधारकों को त्योहारों पर दिया ये शानदार तोहफा, ग्राहकों को मिलेगी ये रियायत

Latest Festive Offer 2022: वाह अब SBI और HDFC ने अपने खाताधारकों को त्योहारों पर दिया ये शानदार तोहफा, ग्राहकों को मिलेगी ये रियायत

वाह शुरू हो गई है WhatsApp Premium Subscription Service, जानें क्या हैं इसके लाभ, क्या आप ले सकेंगे इसका लाभ

वाह शुरू हो गई है WhatsApp Premium Subscription Service, जानें क्या हैं इसके लाभ, क्या आप ले सकेंगे इसका लाभ