in

डोबरी सालवाला में तेंदुए का आतंक, ग्रामीणों ने प्रशासन से लगाई गुहार..

डोबरी सालवाला में तेंदुए का आतंक, ग्रामीणों ने प्रशासन से लगाई गुहार..

तेंदुए ने दो बकरियों को बनाया शिकार, इलाके में खौफ

जिला सिरमौर के उपमंडल पांवटा साहिब के तहत ग्राम पंचायत डोबरी सालवाला में तेंदुए के आतंक से लोग सहमे हुए हैं तेंदुए ने सोमवार रात को पशुशाला में बंधी दो बकरी को अपना शिकार बनाया है।

ग्रामीण श्यामलाल ने बताया की पशुशाला में बंधी बकरियों को तेंदुए ने अपना शिकार बनाया है। तीन बकरियों में से एक बकरी मृत मिली और एक बकरी का बच्चा भागकर बचाने में कामयाब रहा।

BKD School
BKD School

लेकिन तीसरी बकरी का कोई अता पता नहीं है। आस पड़ोस में ढूंढने की कोशिश की लेकिन कहीं भी बकरी नहीं मिली अंदाजा लगाया जा रहा है कि बकरी को तेंदुआ उठाकर ले गया

गांव के लोगों ने शाम ढलने के बाद अकेले घरों से बाहर निकलना बंद कर दिया है। ग्रामीण अपने बच्चों को अकेले स्कूल भेजने से डर रहे हैं। प्राप्त जानकारी के अनुसार पूर्ण सिंह पुत्र सूरत राम की बकरियों को अपना शिकार मनाया है।

रिहायशी इलाके में तेंदुए के आतंक से ग्रामीणों के रोजमर्रा के कार्य प्रभावित हो रहे हैं। दिहाड़ी मजदूरी करने के लिए दूर स्थानों पर जाने वाले लोग शाम ढलने के बाद घर आने से डर रहे हैं।

व्हाट्सएप पर न्यूज़ घाट समाचार समूह से जुड़ने के लिए इस लिंक को क्लिक करें।

ग्रामीण छोटे बच्चों को अकेले स्कूल नहीं भेज रहे हैं। ग्रामीणों ने वन विभाग से मांग की है कि तेंदुए को पकड़ने के लिए पिंजरा लगाया जाए।

ग्रामीणों ने बताया कि यह साल के भीतर तीसरी घटना है जब साल वाला पंचायत में तीसरी बार तेंदुए ने दस्तक दी है ग्रामीणों ने प्रशासन से आग्रह किया है कि इस तेंदुए को जल्द पकड़ा जाए ताकि बड़े नुकसान को होने से बचाया जा सके

इस बारे में ग्राम पंचायत प्रधान ने जानकारी देते हुए बताया कि फॉरेस्ट विभाग को सूचना दे दी गई है मौके पर फॉरेस्ट विभाग की टीम भेज दी गई है वही पटवारी को भी मुआवजे की देखरेख करने के लिए बुलाया है।

व्हाट्सएप पर न्यूज़ घाट समाचार समूह से जुड़ने के लिए इस लिंक को क्लिक करें।

Written by Newsghat Desk

पांवटा साहिब में एडीजे कोर्ट खोलने की मांग को लेकर वकीलों का धरना जारी...

पांवटा साहिब में एडीजे कोर्ट खोलने की मांग को लेकर वकीलों का धरना जारी…

आपदा: टिम्बी से गुंडाह सड़क पर भूस्खलन आवाजाही बंद, ग्रामीणों ने खुद सड़क को किया बहाल