in

नाहन मेडिकल कॉलेज मे आउटसोर्स भर्ती के निर्णय का विरोध

विद्युत बोर्ड आउटसोर्स कर्मचारी यूनियन उखड़ी..

Admission notice

पहले रखे कर्मचारियों के लिए स्थाई पॉलिसी बनाएं सरकार..

JPREC-June
JPREC-June

न्यूज़ घाट/पांवटा साहिब

विद्युत बोर्ड आउटसोर्स कर्मचारियों ने सीएम जयराम ठाकुर द्वारा नाहन मेडिकल कॉलेज में आउटसोर्स कर्मचारियों की भर्ती करने का निर्णय पर विरोध जताया है।

विद्युत बोर्ड आउटसोर्स कर्मचारी जिला सिरमौर के इकाई अध्यक्ष अंकुर शर्मा, विद्युत उप मंडल राजगढ़ के प्रधान सुखदेव, नाहन उपमंडल के प्रधान विक्रम और विद्युत उपमंडल पांवटा साहिब के प्रधान राजेश चौहान ने कहा कि आउट सोर्स कर्मचारी के साथ प्रदेश सरकार अत्याचार कर रही है।

Mehar Electrical
Mehar Electrical

एक तरफ विद्युत बोर्ड में मेंटेनेंस गैंग के आउटसोर्स कर्मचारियों को बाहर का रास्ता दिखा रही है और दूसरी तरफ जिला मुख्यालय सिरमौर के नाहन आने पर जयराम ठाकुर मेडिकल कॉलेज में आउटसोर्स कर्मचारियों की भर्ती करने का निर्णय लेते हैं।

ये भी पढ़ें :  हड़कंप : शादी समारोह में विधायक को धाम परोसने के बाद रसोइया संक्रमित…

 पावर कट : 2 और 3 मई को इन इलाकों में रहेगी विद्युत आपूर्ति बाधित

नाहन में आउटसोर्स पर तैनात होंगे कर्मचारी, पढ़ें किन पदों पर होगी नियुक्ति

आउट सोर्स कर्मचारी संघ ने कहा कि सरकार पहले लगे आउटसोर्स कर्मचारियों के लिए स्थाई नीति बनाने से मना कर रही हैं। उसके बावजूद भी सीएम जयराम ठाकुर मेडिकल कॉलेज में आउटसोर्स पर भर्ती करने का निर्णय लेते है।

कर्मचारियों ने मांग की है कि पहले लगे आउटसोर्स कर्मचारियों के लिए स्थाई नीति बनाई जाए, तभी मेडिकल कॉलेज में भर्ती की जाए।

यदि प्रदेश सरकार ऐसा नहीं करती तो आउटसोर्स कर्मचारी इसका विरोध करेंगे और धरना प्रदर्शन करेंगे।

ये भी पढ़ें : नए आदेश : सिरमौर में अब शादियों को लेकर नए आदेश जारी….

सिरमौर में इस शनिवार व रविवार बंद रहेंगे बाजार….

कोरोना संक्रमित मरीज की मौत पर सीएम के सामने हंगामा

जिला इकाई अध्यक्ष अंकुर शर्मा ने कहा की कोविड-19 जैसी महामारी के चलते आउटसोर्स कर्मचारी दिन-रात बोर्ड निगमों आदि मे सेवाएं दे रहे हैं।

इसके बावजूद भी प्रदेश सरकार आउटसोर्स कर्मचारियों की अनदेखी कर रही है। उनके लिए कोई स्थाई नीति नहीं बना रही है।

प्रदेश सरकार से निवेदन है कि आउटसोर्स कर्मचारी जब प्रदेश भर में हर विभागों में अपनी सेवाएं दे रहे हैं तो प्रदेश सरकार उनके लिए एक स्थाई नीति बनाएं ताकि आउटसोर्स कर्मचारी का भविष्य बना रहे और उन्हें किसी भी कठिनाई का सामना ना करना पड़े।

ये भी पढ़ें : उफ, ये घिनौना काम करते पकड़ी गई विदेशी महिला, गिरफ्तार

ये भी पढ़ें : जयराम सरकार का टीजीटी अध्यापकों को तोहफा…

जैसी स्थिति अभी विद्युत बोर्ड के मेंटेनेंस गैंग वालों के लिए बनी है वही स्थिति हर विभागों में आउटसोर्स कर्मचारियों के लिए एक ना एक दिन जरूर बनेगी।

ऐसी परिस्थितियों से निपटने के लिए हमें एकजुट होना बहुत जरूरी है। जब तक प्रदेश सरकार आउटसोर्स कर्मचारियों के लिए कोई स्थाई निति नहीं बनाती तब तक किसी भी विभाग में आउटसोर्स कर्मचारी की भर्ती नहीं होनी चाहिए।

यदि प्रदेश सरकार किसी भी विभाग में आउटसोर्स कर्मचारियों की भर्ती करता है तो हर विभाग में उस भर्ती का विरोध किया जाएगा।

Written by newsghat

हड़कंप : शादी समारोह में विधायक को धाम परोसने के बाद रसोइया संक्रमित…

Suicide : शाम को निकला था घूमने, पेड़ पर लटका मिला शव…