in

नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी दिल्ली के रिचर्स प्रोजेक्ट का हिस्सा बने ओम शर्मा

नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी दिल्ली के रिचर्स प्रोजेक्ट का हिस्सा बने ओम शर्मा

– निष्पक्ष और निर्भिक पत्रकारिता पर किया जा रहा है लॉ यूनिवर्सिटी द्वारा शोध

 

Admission notice

– देश के 400 पत्रकारों में बीबीएन के पत्रकार का भी नाम शामिल

JPREC-June
JPREC-June

– कोरोना काल में प्रशासन द्वारा 3 एफआईआर दर्ज करने के बाद जारी रखी जंग

– इस उपलब्धि का श्रेय डीएवी स्कूल और कॉलेज के गुरुओं को : ओम शर्मा

नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी दिल्ली द्वारा निर्भिक पत्रकारिता पर किए जा रहे रिसर्च प्रोजेक्ट (विशेष शोध) में हिमाचल से एकमात्र पत्रकार नाम शामिल किया गया है।

Mehar Electrical
Mehar Electrical

नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी दिल्ली के प्रोजेक्ट इंचार्ज मिस्टर हनन ने बताया के लॉ यूनिवर्सिटी देश के उन पत्रकारों पर रिसर्च वर्क कर रही है जिन्होंने प्रशासन के दवाब, प्रताड़ना और एफआईआर दर्ज किए जाने के बाबजूद भी बिना डरे लोगों के लिए अपनी जंग जारी रखी।

कोरोना काल में देश भर में सरकार और प्रशासन द्वारा पत्रकारों पर डिजास्टर मैनेजमेंट एक्ट की विभिन्न धाराओं के तहत मामले दर्ज किए गए थे।

मिस्टर हनन ने बताया की इस रिसर्च प्रोजेक्ट में लॉ यूनिवर्सिटी दिल्ली ने देश के 400 पत्रकारों का नाम शामिल किया है और उन पर शोध किया जा रहा है। कैसे इन 400 कलम के सिपाहियों ने कोरोना जैसी भयंकर महामारी के दौरान सरकार और प्रशासन की अव्यवस्था और नाकामियों के खिलाफ अपनी आवाज बुलंद रखी।

सरकार और प्रशासन ने इन 400 पत्रकारों के खिलाफ डिजास्टर मैनेजमेंट एक्ट की धाराओं के तहत मामले भी दर्ज किए। लेकिन ये कलम के सिपाही फिर भी झुके नहीं एफआईआर दर्ज होने और सरकारों व प्रशासन की प्रताड़ना के बाबजूद इन निर्भिक पत्रकारों की कलम रुकी नहीं।

लॉ यूनिवर्सिटी दिल्ली के हनन ने बताया के हिमाचल से पत्रकार ओम शर्मा ने भी सरकारी तंत्र की प्रताड़ना के बाबजूद भी निष्पक्षता और निर्भीकता से अपनी पत्रकारिता का सफर जारी रखा। देश के 400 पत्रकारों में ओम शर्मा भी इस रिसर्च प्रोजेक्ट (विशेष शोध) का हिस्सा बने हैं।

इस रिसर्च प्रोजेक्ट में पत्रकारों के खिलाफ दर्ज मामलों, उनकी द्वारा उजागर की गई सरकारों और प्रशासन की कमियों तथा जनहित में पत्रकारों द्वारा की गई खबरों पर शोध करके प्रोजेक्ट को लॉ यूनिवर्सिटी में प्रेषित किया जाएगा। इस रिसर्च प्रोजेक्ट पर पूरी टीम काम कर रही है और देशभर के 400 पत्रकारों से संपर्क साधकर तथ्य व जानकारी जुटाई जा रही है।

इस विशेष शोध का हिस्सा बनने पर ओम शर्मा ने नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी दिल्ली का आभार जताया। ओम शर्मा ने भरोसा दिलाया की वह हमेशा सच और पत्रकारिता की गरिमा को बरकरार रखेंगे और निष्पक्षता तथा निर्भीकता के साथ आम लोगों की आवाज और समस्याओं को सरकार व प्रशासन के समक्ष उठाते रहेंगे। उन्होंने इस उपलब्धि का श्रेय डीएवी स्कूल और कॉलेज दौलतपुर चौक के गुरुओं व प्रवक्ता मैडम देवकला शर्मा को दिया।

Written by Newsghat Desk

पांवटा साहिब के रैन बसेरा में मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध -विवेक महाजन

नगर परिषद देगी सीएम सुखविंद्र सिंह सुक्खू को पांवटा साहिब आने का न्योता, बैठक में चर्चा