in

पांवटा साहिब में ब्रेन ट्यूमर से जूझ रही बिन बाप की मासूम, दानी सज्जन मदद के लिए बढ़ाएं हाथ

पांवटा साहिब में ब्रेन ट्यूमर से जूझ रही बिन बाप की मासूम, दानी सज्जन मदद के लिए बढ़ाएं हाथ

उपमंडल पाँवटा साहिब के तहत गांव फतेहपुर की 7 वर्षीय मासूम गंभीर बीमारी से ग्रसित है परिवार बच्ची के इलाज के लिए लगा रहा जनता से गुहार, बच्ची को इलाज में मदद कर आप भी बने मासूम को नवजीवन देने में भागीदार।

बता दें कि, 7 वर्षीय दिव्यांशी गांव फतेहपुर, तहसील पांवटा साहब जिला सिरमौर की रहने वाली है, जो कि गंभीर ब्रेन ट्यूमर जैसे रोग से ग्रसित है। जिसके चलते वह अभी उत्तराखंड राज्य के ऋषिकेश एम्स के ICU में उपचाराधीन है।

BKD School
BKD School

वहीं, दिव्यांशी के चाचा विशाल का कहना है कि दिव्यांशी को कुछ समय पहले सरदर्द की शिकायत शुरू हुई थी, जिसके बाद जब उन्होंने उसका चेकअप कराया तो पता चला कि वह ब्रेन ट्यूमर है।

जिस के बाद उसको अच्छे इलाज के लिए उत्तराखंड राज्य के लेहमन अस्पताल में उपचार शुरू करवा दिया, लेकिन वहां दिव्यांशी की हालत को गंभीर देखते हुए उसे ऋषिकेश के एम्स अस्पताल में रेफर कर दिया गया।

उनका कहना है कि दिव्यांशी के पिता पहले ही यह दुनिया छोड़ कर जा चुके हैं, वह भी फेफड़ों के कैंसर की बीमारी से ग्रसित थे।

दिव्यांशी के पिता अपने बाद परिवार में बुजुर्ग दादा मम्मी व 5 साल के छोटे भाई को छोड़ गए थे, परिवार में कोई इनकम का सोर्स भी नहीं है बच्चों एवं परिवार का लालन पोषण दिव्यांशी के चाचा ही करते हैं।

दिव्यांशी के पिता अपनी बीमारी के दौरान इलाज में अपनी जमीन जायदाद सब कुछ भेज चुके हैं ऐसे में परिवार पर बड़ी विपत्ति ऑन खड़ी हुई है कि दिव्यांशी का इलाज किस प्रकार करवाया जाए।

ऐसे में परिवार ने सोशल मीडिया और मीडिया के माध्यम से दानी सज्जनों से आर्थिक सहायता की गुहार लगाई है उन्होंने कहा कि कोई भी दानी सज्जन जो दिव्यांशी के इलाज में अपना कुछ हिस्सा देना चाहता हूं वह उसे इस गूगल पर नंबर पर भेज कर उसी नंबर पर उसका स्क्रीनशॉट भेज सकता है ताकि दिव्यांशी की जिंदगी को बचाया जा सके।

Google Pay no = 7018355120 (चाचा विशाल) आप इस नम्बर पर बात भी कर सकते हैं।

Written by Newsghat Desk

2 फरवरी को जेसी जुनेजा अस्पताल द्वारा यहां आयोजित किया जाएगा निशुल्क स्वास्थ्य शिविर

रामपुर भारापूर स्कूल का वार्षिक पारितोषिक वितरण समारोह में सांस्कृतिक कार्यक्रमों की धूम