in

मांगे न मानी तो 22 से काम छोड़ो हड़ताल, हड़ताल पर बैठी कंडक्टर यूनियन

मांगे न मानी तो 22 से काम छोड़ो हड़ताल, हड़ताल पर बैठी कंडक्टर यूनियन

अपनी मांगों को लेकर HRTC कंडक्टर यूनियन हड़ताल पर चली गई है। यूनियन ने चेतावनी दी है कि यदि इनकी मांगे न मानी गई तो वे 22 जुलाई से काम छोड़ो हड़ताल पर चले जाएंगे।

बात दें कि छठे वेतन आयोग के लागू होने से एचआरटीसी कंडक्टरों के वेतन में आई विसंगति के विरोध में कंडक्टर यूनियन ने क्रमिक भूख हड़ताल शुरू कर दी है।

शिमला के पुराना बस स्टैंड में कंडक्टर यूनियन के पदाधिकारी भूख हड़ताल पर बैठ गए है। इसी तरह प्रदेश के अन्य मंडलीय कार्यालयों में भी एचआरटीसी कंडक्टरों की भूख हड़ताल शुरू हो गई है।

कंडक्टर यूनियन ने चेताया है कि अगर 21 जुलाई तक सरकार द्वारा कंडक्टर यूनियन को वार्ता के लिए नहीं बुलाया जाता हैं, तो फिर यूनियन 22 जुलाई को बड़ा कदम उठाएगी।

Plot for sale
Plot for sale

यूनियन प्रदेश में काम छोड़ो आंदोलन भी शुरू कर सकती है। बीते मंगलवार को शिमला में कंडक्टर यूनियन ने बैठक कर हड़ताल करने का निर्णय लिया था।

Kidzee 02
Kidzee 02

कंडक्टर यूनियन के प्रदेश अध्यक्ष कृष्णचंद ने कहा कि सरकार द्वारा दिए जा रहे छठे वेतन आयोग में क्लास थ्री के सभी कर्मचारियों को 10300+3200 का वेतनमान देने की बात की गई थी, लेकिन अभी तक कुछ नहीं हुआ।

ऐसे में कंडक्टर यूनियन के सदस्य आगामी 12 दिन तक पुराना बस स्टैंड में इसी तरह से क्रमिक हड़ताल पर बैठे रहेंगे। एचआरटीसी कर्मचारियों का वेतन 5910+1900 फिक्स किया गया है।

Republic Day 01
Republic Day 01

हिमाचल परिवहन कंडक्टर यूनियन का आरोप है कि वर्ष 2012 से परिवहन निगम में अधिकारियों द्वारा क्लास थ्री के कर्मचारियों का वेतन 5910+2400 मनमाने तरीके से फिक्स कर दिया था, जबकि अब इसे फिर से घटाकर 5910+1900 कर दिया है।

वेतनमान बढ़ाने की जगह घटाया गया है। यूनियन का कहना है कि हिमाचल में सिर्फ कंडक्टर ही ऐसी कैटेगरी है, जिन्हें वेतनमान का लाभ नहीं दिया जा रहा है।

10 दिन का समय

कंडक्टरों की वेतन विसंगति पर कोई निर्णय लेने के लिए एचआरटीसी प्रंबधन ने दस दिन का समय मांगा है। बताया जा रहा है कि प्रबंधन पंजाब व हरियाणा की तरह कंडक्टरों को कलर्क के बराबर ग्रेड-पे देने के लिए इन राज्यों का पैटर्न स्टडी कर रहा है। इसके लिए इन राज्यों के दस्तावेज भी स्टडी किए जा रहे हैं।

Written by Newsghat Desk

हिमाचल की बेटी श्रेया का FIA वूमेन इन मोटर स्पोर्ट्स कंपटीशन के लिए चयन, फ्रांस में होगा कंपटीशन

80km माइलेज वाली ये इलैक्ट्रिक बाइक्स आसानी से हो जाती है फोल्ड, बजट में भी काफी कम