in ,

हिमाचल प्रदेश में बढ़ा इन जलजनित रोगों का प्रकोप: प्रदेश स्वास्थ्य विभाग ने जारी किया अलर्ट! पढ़ें क्या है जरूरी सूचना और बचाव के उपाय

हिमाचल प्रदेश में बढ़ा इन जलजनित रोगों का प्रकोप: प्रदेश स्वास्थ्य विभाग ने जारी किया अलर्ट! पढ़ें क्या है जरूरी सूचना और बचाव के उपाय

हिमाचल प्रदेश में बढ़ा इन जलजनित रोगों का प्रकोप: प्रदेश स्वास्थ्य विभाग ने जारी किया अलर्ट! पढ़ें क्या है जरूरी सूचना और बचाव के उपाय
हिमाचल प्रदेश में बढ़ा इन जलजनित रोगों का प्रकोप: प्रदेश स्वास्थ्य विभाग ने जारी किया अलर्ट! पढ़ें क्या है जरूरी सूचना और बचाव के उपाय

हिमाचल प्रदेश में बढ़ा इन जलजनित रोगों का प्रकोप: प्रदेश स्वास्थ्य विभाग ने जारी किया अलर्ट! पढ़ें क्या है जरूरी सूचना और बचाव के उपाय

Admission notice

हिमाचल प्रदेश में बढ़ा इन जलजनित रोगों का प्रकोप: हिमाचल प्रदेश के स्वास्थ्य सचिव एम सुधा की रिपोर्ट के अनुसार, बरसात के दौरान होने वाली बीमारियों पर विशेष ध्यान देने के लिए स्वास्थ्य विभाग ने अलर्ट जारी किया है।

JPREC-June
JPREC-June

हिमाचल प्रदेश में बारिश के कारण गंदे पानी के सप्लाई की वजह से पीलिया और डायरिया के मामले वृद्धि पा रहे हैं।

हिमाचल प्रदेश में बढ़ा इन जलजनित रोगों का प्रकोप: प्रदेश स्वास्थ्य विभाग ने जारी किया अलर्ट! पढ़ें क्या है जरूरी सूचना और बचाव के उपाय

प्रदेश के विभिन्न चिकित्सा और क्षेत्रीय अस्पतालों में, औसतन पांच से सात रोगी जलजनित बीमारियों से पीड़ित हो रहे हैं।

सरकार ने इस मुद्दे पर सचेतना फैलाने के लिए अलर्ट जारी किया है। डॉक्टर बता रहे हैं कि डायरिया का जीवाणु गंदे पानी के माध्यम से शरीर में प्रवेश करता है।

Mehar Electrical
Mehar Electrical

पीलिया के रोगियों में डायरिया होने का खतरा अधिक होता है, इसलिए डॉक्टरों ने ऐसे मरीजों को विशेष सतर्क रहने की सलाह दी है।

इसके बावजूद, डायरिया का बैक्टीरिया पीलिया से पहले भी हमला कर सकता है, इसलिए सावधानी जरूरी है। स्वास्थ्य सचिव एम सुधा ने फिर से बारिश के समय होने वाली बीमारियों की सूचना दी है।

देश दुनिया और वित्तीय जगत के ताजा समाचार जानने के लिए न्यूज़ घाट व्हाट्सएप समूह से जुड़े। नीचे दिए लिंक पर अभी क्लिक करें

डायरिया: लक्षण और बचाव

डायरिया के मुख्य लक्षणों में शरीर का तापमान कम होना, उल्टी और दस्त शामिल हैं। इससे छोटे बच्चे और बुजुर्ग व्यक्ति अधिक प्रभावित होते हैं।

पीलिया से पीड़ित व्यक्तियों का पाचन तंत्र कमजोर हो जाता है, जिससे उनके शरीर में कुछ भी नहीं टिकता और वे पानी की कमी से पीड़ित होते हैं। इसके कारण, वे भी डायरिया से प्रभावित हो सकते हैं।

डायरिया से बचने के उपाय

ठंड और दूषित पानी से बचें। डायरिया का बैक्टीरिया गंदे पानी के माध्यम से शरीर में प्रवेश कर सकता है, इसलिए सदा उबला हुआ पानी पिएं, तरल पदार्थों का सेवन बढ़ाएं और हल्का भोजन करें।

देश दुनिया और वित्तीय जगत के ताजा समाचार जानने के लिए न्यूज़ घाट व्हाट्सएप समूह से जुड़े। नीचे दिए लिंक पर अभी क्लिक करें

Written by newsghat

Paonta Sahib: पांवटा साहिब के टापू पर फंसे 3 दर्जन लोग किए रेस्क्यू! एसडीएम गुंजित चीमा की अगुवाई में रात भर चला रेस्क्यू ऑपरेशन

हिमाचल प्रदेश में दर्दनाक हादसा: कार गहरी खाई में गिरने से वेटनरी फार्मासिस्ट सहित 5 लोगों की मौत! मृतकों में एक ही परिवार के 3 लोग

हिमाचल प्रदेश में दर्दनाक हादसा: कार गहरी खाई में गिरने से वेटनरी फार्मासिस्ट सहित 5 लोगों की मौत! मृतकों में एक ही परिवार के 3 लोग