in

हिमाचल में ईलाज के लिए ऑक्सीजन नहीं, बल्कि इसकी भारी किल्लत…

जयराम सरकार ने केंद्र से की डिमांड, जल्द पूरी होने की उम्मीद…

हिमाचल कैसे निपटेगा कोरोना के नए स्ट्रेन से, पढ़ें क्या है पूरी योजना…

न्यूज़ घाट/शिमला

हिमाचल प्रदेश सरकार ने कोरोना ने निपटने के लिए व्यापक योजना तैयार की है। सरकार फिलहाल कोरोना महामारी का पीक मान कर नही चल रही है। आने वाले समय में कोरोना के नए स्ट्रेन के कारण हालत बिगड़ते हैं तो सरकार ने उससे निपटने के तैयारी की है।

हिमाचल प्रदेश के मुख्य सचिव अनिल कुमार खाची का दावा है कि कारोना से निपटने के लिए वर्तमान में तैयारियों और संसाधन की कमी नहीं है।

लेकिन अगर संक्रमण के मामले भविष्य में भी तेजी से बढ़ेंगे तो अतिरिक्त व्यवथा करनी पड़ सकती है। उसी प्लान पर सरकार मंथन कर रही है।

मुख्य सचिव का कहना है कि सरकार आने वाली चुनौतियों की तैयारी में जुट गई है, फिलहाल इस स्थिति को पीक बताना संभव नहीं, लेकिन सरकार हर चुनौती को लेकर अपनी अगली तैयारियां कर रही है। आगे पढ़ें, हिमाचल में उपचार के लिए क्या कमी है….?

ये भी पढ़ें : पांवटा साहिब के जाने माने व्यवसाई के माता पिता की गला दबाकर हत्या…

पांवटा साहिब में 2 ने हारी कोरोना से जंग, बुजुर्ग का शव लेने नहीं पहुंचा कोई अस्पताल…

शादी से डेढ़ माह पूर्व युवक की कोरोना संक्रमण से मौत, शोक की लहर

मुख्य सचिव ने कहा कि प्रदेश में ऑक्सीजन की उपलब्धता भरपूर है, केवल ऑक्सीजन के भंडारण के लिए खाली सिलेंडरों की कमी है। इसके लिए केंद्र से 5 हज़ार खाली बी और डी टाइप सिलेंडर की मांग की गई है।

हर तरह की व्यवस्था देखने के लिए चार समितियां गठित की गई हैं। ये कमेटियां ऑक्सीजन से लेकर, बेड्स, कारपोरेट घरानों से मदद के साथ प्रशासनिक समन्वय का काम बखूबी देख रही हैं।

इसके अलावा मुख्य सचिव ने माना कि हिमाचल में देश के मुकाबले ज्यादा पॉज़िटिवी और मोर्टेलिटी रेट है। आगे पढ़ें, नया स्ट्रेन से निपटने के लिए और क्या है तैयारियां….?

ये भी पढ़े : अलर्ट, कल से यूं और बढ़ेगी पुलिस की सख्ती, आप भी नही बच पाएंगे नजर से…

दर्दनाक हादसा, सड़क हादसे में बाइक सवार की मौत…

हिमाचल प्रदेश में अभी बिगड़ेगा मौसम का मिजाज, ऑरेंज-येलो अलर्ट जारी

उनका कहना है कि इसकी वजह लोगों में संक्रमण को लेकर डर की कमी और लापरवाही हो सकती है। नया स्ट्रेन ज्यादा तेजी से आघात करता है।

इसी को ध्यान में रखते हुए प्रदेश में सख्ती बढ़ाई गई है। सरकार अगले तीन चार दिन तक इस व्यवस्था की निगरानी करेगी।

इसके बाद अगर ज़रूरी हुआ तो कोई और फैसला भी लिया जा सकता है। मुख्य सचिव ने लोगों से संयम के साथ कोरोना पाबंदियों का पालन करते हुए संक्रमण को रोकने में मदद करने की अपील की है।

ये भी पढ़ें : शर्मनाक, फर्श पर घसीट कर शव शमशान तक पहुंचाया, तो वहां भी ताला मिला…..

पांवटा साहिब की इस इकलौती पंचायत में कोरोना संक्रमण के 35 मामले एक्टिव…

पास पड़ोस : उत्तराखंड में 11 से 18 तक प्रथम फेज में सख्त कोरोना कर्फ्यू….

Written by newsghat

कोरोना अपडेट : पांवटा साहिब में 2 ने हारी कोरोना से जंग

अगर आपने कोरोना से जंग जीत ली है…? वैक्सीन लगवाने ना करें जल्दबाजी…..