in ,

हिमाचल में किसानों बागवानों के लिए बड़ी खबर: अब नही करना पड़ेगा यूरिया की कमी का सामना! पढ़ें किसानों के लिए कब होगा उपलब्ध

हिमाचल में किसानों बागवानों के लिए बड़ी खबर: अब नही करना पड़ेगा यूरिया की कमी का सामना! पढ़ें किसानों के लिए कब होगा उपलब्ध

हिमाचल में किसानों बागवानों के लिए बड़ी खबर: अब नही करना पड़ेगा यूरिया की कमी का सामना! पढ़ें किसानों के लिए कब होगा उपलब्ध
हिमाचल में किसानों बागवानों के लिए बड़ी खबर: अब नही करना पड़ेगा यूरिया की कमी का सामना! पढ़ें किसानों के लिए कब होगा उपलब्ध

हिमाचल में किसानों बागवानों के लिए बड़ी खबर: अब नही करना पड़ेगा यूरिया की कमी का सामना! पढ़ें किसानों के लिए कब होगा उपलब्ध

हिमाचल में किसानों बागवानों के लिए बड़ी खबर: हिमाचल प्रदेश के किसानों और बागवानों के लिए अच्छी खबर है कि उनकी यूरिया की उत्सुकता जल्द ही खत्म होने वाली है। हाल ही में बताया गया है कि हिमफैड स्टोर में जल्द ही यूरिया की सप्लाई शुरू होने वाली है।

हिमाचल में किसानों बागवानों के लिए बड़ी खबर: अब नही करना पड़ेगा यूरिया की कमी का सामना! पढ़ें किसानों के लिए कब होगा उपलब्ध

इसका सीधा असर शिमला और कुल्लू के निचले क्षेत्रों के सेब के बागवानों पर पड़ेगा, जहाँ पोस्ट हारवेस्ट सीजन शुरू हो चुका है।

BKD School
BKD School

इन दिनों शिमला और कुल्लू के क्षेत्रों में सेब का सीजन खत्म हो चुका है और यही समय होता है जब पौधों में नाइट्रोजन डाली जाती है। इसके लिए यूरिया की जरूरत पड़ती है।

लेकिन पिछले कुछ समय से हिमफैड स्टोर में यूरिया की कमी के कारण किसानों को महंगी नाइट्रोजन खरीदनी पड़ रही थी।

देश दुनिया और वित्तीय जगत के ताजा समाचार जानने के लिए न्यूज़ घाट व्हाट्सएप समूह से जुड़े। नीचे दिए लिंक पर अभी क्लिक करें

यूरिया की कमी के बावजूद, किसानों को अब उम्मीद है कि उन्हें सरकारी सब्सिडी वाला यूरिया जल्द ही मिलेगा। इसके अनुसार, हिमाचल में यूरिया की सप्लाई आज होने की उम्मीद है।

हिमाचल में इस समय यूरिया की मांग 5 हजार मीट्रिक टन है, लेकिन हिमफैड के अनुसार शुरुआत में केवल 2600 मीट्रिक टन यूरिया ही पहुंचेगी।

हालांकि, इस सप्लाई की खपत होने के बाद अगली सप्लाई मंगवाई जाएगी। इस वर्ष बारिश ज्यादा होने के कारण युरिया की मांग बढ़ी है।

विशेष रूप से पोस्टहार्वेस्ट में एनपीके खाद की महत्ता बढ़ जाती है, जो एक संपूर्ण न्युट्ेशन है। इसके अनुसार, हिमफैड ने एनपीके (12-32-16) की सप्लाई 15 अगस्त के बाद मंगवाने का निर्णय लिया है।

इसलिए, यूरिया और अन्य खादों की समय पर सप्लाई का सुनिश्चित करना बहुत महत्वपूर्ण है, क्योंकि इसका सीधा असर अगले वर्ष की फसल पर पड़ता है।

देश दुनिया और वित्तीय जगत के ताजा समाचार जानने के लिए न्यूज़ घाट व्हाट्सएप समूह से जुड़े। नीचे दिए लिंक पर अभी क्लिक करें

Written by newsghat

Tablet Heavy Discount: टैबलेट लेने की सोच रहे हैं तो यहां मिल रहा भारी डिस्काउंट! खरीदने से पहले जान ले क्या है खास ऑफर

Tablet Heavy Discount: टैबलेट लेने की सोच रहे हैं तो यहां मिल रहा भारी डिस्काउंट! खरीदने से पहले जान ले क्या है खास ऑफर

HP Higher Education: ज्यादा फीस होने के कारण निजी शिक्षा संस्थानों में सैंकड़ों सीटें खाली! देखें सरकारी और प्राइवेट संस्थानों की फीस में कितना अंतर..

HP Higher Education: ज्यादा फीस होने के कारण निजी शिक्षा संस्थानों में सैंकड़ों सीटें खाली! देखें सरकारी और प्राइवेट संस्थानों की फीस में कितना अंतर..