in , , ,

हिमाचल में बड़ा खुलासा: सीबीआई ने किया भांडाफोड! कैसे फर्जी मार्कशीट से पाई सरकारी नौकरी! देखें रिपोर्ट

हिमाचल में बड़ा खुलासा: सीबीआई ने किया भांडाफोड! कैसे फर्जी मार्कशीट से पाई सरकारी नौकरी! देखें रिपोर्ट

हिमाचल में बड़ा खुलासा: सीबीआई ने किया भांडाफोड! कैसे फर्जी मार्कशीट से पाई सरकारी नौकरी! देखें रिपोर्ट

हिमाचल में बड़ा खुलासा: हिमाचल प्रदेश में एक चौंकाने वाले मामले में, केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) ने एक ग्रामीण डाक सेवक पर कार्रवाई की है, जिसने फर्जी दस्तावेजों के जरिए सरकारी नौकरी हासिल की थी।

हिमाचल में बड़ा खुलासा: सीबीआई ने किया भांडाफोड! कैसे फर्जी मार्कशीट से पाई सरकारी नौकरी! देखें रिपोर्ट

यह मामला हिमाचल के शिमला जिले से सामने आया है, जहां एक ग्रामीण डाक सेवक ने धोखाधड़ी, साजिश रचने और फर्जी दस्तावेज बनाने का अपराध किया।

आरोपी, सन्नी, जो हरियाणा के रोहतक जिले के रिटौली का रहने वाला है, ने 10वीं कक्षा की एक फर्जी मार्कशीट पेश करके डाक विभाग में नौकरी पाई थी। यह मार्कशीट माध्यमिक शिक्षा परिषद इलाहाबाद के नाम से बनाई गई थी, जिसे जांच में फर्जी पाया गया।

दिन भर की ताजा खबरों के अपडेट के लिए WhatsApp प NewsGha Media के इस लिंक को क्लिक कर चैनल को फ़ॉलो करें।

Plot for sale
Plot for sale

इस मामले की शुरुआत तब हुई जब डाक विभाग ने सन्नी के दस्तावेजों की जांच के लिए माध्यमिक शिक्षा परिषद को भेजा।

Kidzee 02
Kidzee 02

बोर्ड ने पुष्टि की कि सन्नी की 10वीं कक्षा की मार्कशीट अनुदानित नहीं है, यानी यह वैध नहीं थी।

सन्नी को इस धोखाधड़ी के आधार पर डाक विभाग में सहायक शाखा पोस्ट मास्टर (एबीपीएम) के पद पर तैनाती मिली थी। उसने इस नौकरी के दौरान विभाग से 1,34,664 रुपये का वेतन प्राप्त किया था।

Republic Day 01
Republic Day 01

जांच के बाद, डाक विभाग ने सन्नी को निलंबित कर दिया और उसके खिलाफ सीबीआई को शिकायत भेजी।

सीबीआई ने इस मामले में आगे की जांच शुरू की और सन्नी के खिलाफ भ्रष्टाचार निरोधक अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज किया।

यह मामला सिर्फ सन्नी तक सीमित नहीं है। सीबीआई पहले ही बिलासपुर और चंबा जिलों में कार्यरत अन्य तीन ग्रामीण डाक सेवकों के खिलाफ भी केस दर्ज कर चुकी है।

इस घटना से यह स्पष्ट होता है कि सरकारी नौकरियों में फर्जी दस्तावेजों के जरिए धोखाधड़ी का एक बड़ा जाल मौजूद है, जिस पर सीबीआई कड़ी नजर रख रही है।

इस मामले की गहन जांच से न केवल सन्नी, बल्कि इस तरह के अन्य फर्जी दस्तावेजों का इस्तेमाल करने वाले व्यक्तियों और संबंधित अधिकारियों की भूमिका का भी पता चलेगा।

यह मामला सरकारी नौकरी प्रक्रिया में सुधार की मांग करता है ताकि ऐसे अनैतिक और गैरकानूनी कृत्यों को रोका जा सके।

दिन भर की ताजा खबरों के अपडेट के लिए WhatsApp प NewsGha Media के इस लिंक को क्लिक कर चैनल को फ़ॉलो करें।

Written by Newsghat Desk

Paonta Sahib: JPREC Institute में युवाओं को आत्मनिर्भर बनाने के लिए होगा ये खास आयोजन! आपको कैसे मिलेगा लाभ देखें एक क्लिक में

Paonta Sahib: JPREC Institute में युवाओं को आत्मनिर्भर बनाने के लिए होगा ये खास आयोजन! आपको कैसे मिलेगा लाभ देखें एक क्लिक में

Paonta Sahib: JPREC Institute में उठाएं फ्री कंप्यूटर कोर्स के अवसर का लाभ! ऐसे मिलेगा MSME की खास योजना का लाभ