in , , , ,

हिमाचल में स्वास्थ्य संकट: प्रदेश में डॉक्टरों की सुक्खू सरकार को कड़ी चेतावनी ! आम लोगों में हड़कंप! एक क्लिक में देखें पूरी ख़बर

हिमाचल में स्वास्थ्य संकट: प्रदेश में डॉक्टरों की सुक्खू सरकार को कड़ी चेतावनी ! आम लोगों में हड़कंप! एक क्लिक में देखें पूरी ख़बर

हिमाचल में स्वास्थ्य संकट: प्रदेश में डॉक्टरों की सुक्खू सरकार को कड़ी चेतावनी ! आम लोगों में हड़कंप! एक क्लिक में देखें पूरी ख़बर

 

हिमाचल में स्वास्थ्य संकट: हिमाचल प्रदेश के डॉक्टरों ने सरकार की ओर से उनकी मांगों पर ध्यान न देने की स्थिति में हड़ताल की धमकी दी है।

हिमाचल में स्वास्थ्य संकट: प्रदेश में डॉक्टरों की सुक्खू सरकार को कड़ी चेतावनी ! आम लोगों में हड़कंप! एक क्लिक में देखें पूरी ख़बर

चिकित्सा अधिकारी संघ के अनुसार, यदि 7 फरवरी तक उनकी मांगों पर सरकार वार्ता नहीं करती, तो वे पेन डाउन हड़ताल पर चले जाएंगे।

नूरपुर सिविल अस्पताल में आयोजित संघ की बैठक में, डॉ. विकास ठाकुर ने बताया कि विशेषज्ञ चिकित्सकों के वेतन में कटौती की गई है।

Plot for sale
Plot for sale

जहां पहले यह 40,392 था, वहीं अब इसे घटाकर 33,660 कर दिया गया है। इससे राज्य में पहले से ही कम संख्या में मौजूद विशेषज्ञ डॉक्टरों की स्थिति और भी नाजुक हो गई है।

Kidzee 02
Kidzee 02

संघ ने यह भी बताया कि सीएमओ और बीएमओ जैसे पदों पर अतिरिक्त बोझ है, जिससे विभागीय कार्य प्रभावित हो रहे हैं।

उन्होंने इन पदों पर नियमित नियुक्तियों और पदोन्नति की भी मांग की। इसके अलावा, उन्होंने स्वास्थ्य निदेशक, उप स्वास्थ्य निदेशक और खंड चिकित्सा अधिकारियों के रिक्त पदों को जल्दी भरने की मांग उठाई।

Republic Day 01
Republic Day 01

दिन भर की ताजा खबरों के अपडेट के लिए WhatsApp प NewsGha Media के इस लिंक को क्लिक कर चैनल को फ़ॉलो करें।

संघ का कहना है कि अगर सरकार उनकी चिंताओं पर विचार नहीं करती, तो हड़ताल अनिवार्य हो जाएगी। इससे न केवल डॉक्टरों, बल्कि पूरे स्वास्थ्य तंत्र पर असर पड़ेगा, जिससे आम जनता को भी कठिनाई हो सकती है।

डॉ. विकास ठाकुर ने यह भी बताया कि स्वास्थ्य विभाग में प्रमोशन की प्रक्रिया अन्य विभागों की तुलना में काफी सीमित है।

उनका मानना है कि विभाग में सेवानिवृत्त मुख्य चिकित्सा अधिकारियों को सेवा विस्तार दिए जाने के कारण युवा और योग्य डॉक्टरों को पदोन्नति के अवसर नहीं मिल पा रहे हैं।

इसके अलावा, डॉक्टरों ने राज्य सरकार से अपनी लंबित मांगों पर ध्यान देने और उन्हें तुरंत हल करने की अपील की है। वे चाहते हैं कि उनकी सेवा शर्तों में सुधार किया जाए और उनके कार्यक्षेत्र में बेहतरी लाई जाए।

संघ ने इस बात की भी चिंता जताई है कि यदि उनकी मांगें नहीं मानी जातीं, तो इससे राज्य के स्वास्थ्य सेवाओं पर गहरा असर पड़ेगा और इसके लिए वे सरकार को जिम्मेदार मानेंगे।

इसलिए, उन्होंने सरकार से अपनी बातों पर विचार करने और समाधान की दिशा में काम करने का आग्रह किया है।

दिन भर की ताजा खबरों के अपडेट के लिए WhatsApp प NewsGha Media के इस लिंक को क्लिक कर चैनल को फ़ॉलो करें।

Written by Newsghat Desk

Paonta Sahib: विद्यार्थियों के चहेते प्रिंसिपल अजय शर्मा हुए सेवानिवृत्त! शिक्षकों व छात्रों ने दी भावुक विदाई

Himachal Update: हिमाचल सरकार ने इस बड़े काम में लगाई हजारों कर्मचारियों की फ़ौज! एक क्लिक में देखें पूरी ख़बर