Paonta Cong
in

हिमाचल शिक्षक भर्ती: हिमाचल प्रदेश में शिक्षकों की अस्थाई भर्ती को लेकर सीएम सुक्खू ने कही ये बड़ी बात

हिमाचल शिक्षक भर्ती: हिमाचल प्रदेश में शिक्षकों की अस्थाई भर्ती को लेकर सीएम सुक्खू ने कही ये बड़ी बात

CM Sukhu Decision: सीएम सुक्खू का बड़ा फैसला, अब 14 से 18 साल की लड़कियों को आंगनबाड़ी से मिलेगा मुफ्त राशन CM Sukhu Decision: हिमाचल प्रदेश में राज्य सरकार ने प्रदेश भर की 14 से 18 आयु वर्ग की लड़कियों को आंगनबाड़ी केंद्रों से राशन उपलब्ध करवाने का प्रोसेस शुरू किया है। प्रदेश भर में 14 से 18 वर्ष की लड़कियों को इस माह से फिर आंगनबाड़ी केंद्रों में राशन मिलेगा, राज्य सरकार द्वारा जारी की गई इस मुहिम के अंतर्गत हजारों लड़कियों को इसका लाभ मिलने वाला है। CM Sukhu Decision: सीएम सुक्खू का बड़ा फैसला, अब 14 से 18 साल की लड़कियों को आंगनबाड़ी से मिलेगा मुफ्त राशन पूर्व सरकार ने आंगनबाड़ी केंद्रों में लड़कियों को मिलने वाले राशन पर लगा दी थी रोक.... CM Sukhu Decision: पूर्व में आंगनबाड़ी केंद्रों में ही लड़कियों को राशन मिलता था, लेकिन, बाद में भारत सरकार के आदेशानुसार स्कूल न जाने वाली किशोरियों को ही इस राशन को देने का प्रावधान किया गया, जिसका क्रम कई वर्षों तक चला। लेकिन अब राज्य सरकार ने एक बार फिर इस निर्णय में बदलाव करते हुए प्रदेश भर की 14 से 18 आयु वर्ग की लड़कियों को आंगनबाड़ी केंद्रों से राशन मुहैया करवाने का प्रोसेस शुरू किया है। हिमाचल प्रदेश भर में 18, 036 आंगनबाड़ी केंद्रों के तहत हजारों लड़कियां आती हैं, इसलिए आंगनबाड़ी केंद्रों में तैनात कार्यकर्ताओं सहायिकाओं एवं आशा वर्करों से ऐसी लड़कियों का सर्वे कर उनकी गिनती का जिम्मा दिया गया है। यह राशन मिलेगा... आंगनबाड़ी केंद्रों में किशोरियों को चने, सेवइयां, दलिया, चावल, चीनी, राजमाह, तेल, दूध इत्यादि मिलेगा, कभी बीच में में बदलाव भी हो सकता है। राज्य सरकार द्वारा शुरू की गई इस प्रोसेस में अप्रैल माह से ही राशन मिलना शुरू हो जाएगा।
CM Sukhu Decision: सीएम सुक्खू का बड़ा फैसला, अब 14 से 18 साल की लड़कियों को आंगनबाड़ी से मिलेगा मुफ्त राशन CM Sukhu Decision: हिमाचल प्रदेश में राज्य सरकार ने प्रदेश भर की 14 से 18 आयु वर्ग की लड़कियों को आंगनबाड़ी केंद्रों से राशन उपलब्ध करवाने का प्रोसेस शुरू किया है। प्रदेश भर में 14 से 18 वर्ष की लड़कियों को इस माह से फिर आंगनबाड़ी केंद्रों में राशन मिलेगा, राज्य सरकार द्वारा जारी की गई इस मुहिम के अंतर्गत हजारों लड़कियों को इसका लाभ मिलने वाला है। CM Sukhu Decision: सीएम सुक्खू का बड़ा फैसला, अब 14 से 18 साल की लड़कियों को आंगनबाड़ी से मिलेगा मुफ्त राशन पूर्व सरकार ने आंगनबाड़ी केंद्रों में लड़कियों को मिलने वाले राशन पर लगा दी थी रोक.... CM Sukhu Decision: पूर्व में आंगनबाड़ी केंद्रों में ही लड़कियों को राशन मिलता था, लेकिन, बाद में भारत सरकार के आदेशानुसार स्कूल न जाने वाली किशोरियों को ही इस राशन को देने का प्रावधान किया गया, जिसका क्रम कई वर्षों तक चला। लेकिन अब राज्य सरकार ने एक बार फिर इस निर्णय में बदलाव करते हुए प्रदेश भर की 14 से 18 आयु वर्ग की लड़कियों को आंगनबाड़ी केंद्रों से राशन मुहैया करवाने का प्रोसेस शुरू किया है। हिमाचल प्रदेश भर में 18, 036 आंगनबाड़ी केंद्रों के तहत हजारों लड़कियां आती हैं, इसलिए आंगनबाड़ी केंद्रों में तैनात कार्यकर्ताओं सहायिकाओं एवं आशा वर्करों से ऐसी लड़कियों का सर्वे कर उनकी गिनती का जिम्मा दिया गया है। यह राशन मिलेगा... आंगनबाड़ी केंद्रों में किशोरियों को चने, सेवइयां, दलिया, चावल, चीनी, राजमाह, तेल, दूध इत्यादि मिलेगा, कभी बीच में में बदलाव भी हो सकता है। राज्य सरकार द्वारा शुरू की गई इस प्रोसेस में अप्रैल माह से ही राशन मिलना शुरू हो जाएगा।

हिमाचल शिक्षक भर्ती: हिमाचल प्रदेश में शिक्षकों की अस्थाई भर्ती को लेकर सीएम सुक्खू ने कही ये बड़ी बात

JPERC
JPERC

 

Admission notice

हिमाचल शिक्षक भर्ती: हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री सुखविंद्र सिंह सुक्खू ने कहा कि प्रदेश में शिक्षकों की अस्थाई भर्ती नहीं की जाएगी और सभी खाली पद लोक सेवा आयोग के माध्यम से भरे जाएंगे।

उन्होंने यह भी जोड़ा कि बैकडोर से कोई भी भर्ती नहीं होगी। प्रदेश सरकार ने शिक्षकों के खाली पदों की जानकारी मांगने के लिए एक कमेटी गठित की है।

इसके अलावा, उद्योग मंत्री हर्षवर्द्धन चौहान ने बताया कि हिमाचल प्रदेश में जनजातीय और दूरदराज क्षेत्रों के स्कूलों में शैक्षणिक योग्यता के आधार पर हजारों अस्थायी शिक्षकों की भर्ती की योजना थी।

यह नियुक्तियां दो या तीन साल के लिए होती और नियमित भर्तियों की तरह इनमें आरक्षण रोस्टर और भर्ती एवं पदोन्नति नियम लागू होते। इन भर्तियों में अभ्यर्थी के दसवीं, बारहवीं और स्नातक में प्राप्त अंकों के साथ टेट की मेरिट देखी जाती।

हालाँकि, मुख्यमंत्री सुखविंद्र सिंह सुक्खू के हालिया बयान के अनुसार, अब प्रदेश में शिक्षकों की अस्थाई भर्ती नहीं होगी और सभी खाली पद लोक सेवा आयोग के माध्यम से ही भरे जाएंगे। उन्होंने यह भी जोड़ा कि बैकडोर से कोई भी भर्ती नहीं होगी और प्रदेश सरकार पारदर्शिता के साथ काम कर रही है।

इस नई घोषणा के साथ, अब जनजातीय और दूरदराज क्षेत्रों के स्कूलों में शिक्षकों की भर्ती के लिए एक सशक्त और पारदर्शी प्रक्रिया को बढ़ावा देने की उम्मीद है। ऐसा करने से विद्यार्थियों की शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार होने की संभावना है, और शिक्षा के क्षेत्र में नैतिक मूल्यों को बढ़ावा दिया जा सकता है।

देश दुनिया और वित्तीय जगत के ताजा समाचार जानने के लिए न्यूज़ घाट व्हाट्सएप समूह से जुड़े। नीचे दिए लिंक पर अभी क्लिक करें

Written by newsghat

Amazon Prime Membership Price: Amazon Prime की कीमतों में बढ़ौतरी, पढ़ें क्या होंगे नई दरें और मौजूदा मेंबर्स..

Amazon Prime Membership Price: Amazon Prime की कीमतों में बढ़ौतरी, पढ़ें क्या होंगे नई दरें और मौजूदा मेंबर्स..

Sirmour News: टोल बैरियर कर्मचारी से मारपीट कर नकदी छीनकर भागे शातिर, पुलिस ने आरोपियों की तलाश में जुटी

Sirmour News: टोल बैरियर कर्मचारी से मारपीट कर नकदी छीनकर भागे शातिर, पुलिस ने आरोपियों की तलाश में जुटी