Paonta Cong
in , , , , , , ,

BharatPe vs Ashneer Grover: भारतपे फ्रॉड केस मामले में अश्नीर ग्रोवर पर फिर छाए संकट के बादल! अब क्या है मामले में नया देखें पूरी डिटेल

BharatPe vs Ashneer Grover: भारतपे फ्रॉड केस मामले में अश्नीर ग्रोवर पर फिर छाए संकट के बादल! अब क्या है मामले में नया देखें पूरी डिटेल

BharatPe vs Ashneer Grover: भारतपे फ्रॉड केस मामले में अश्नीर ग्रोवर पर फिर छाए संकट के बादल! अब क्या है मामले में नया देखें पूरी डिटेल

JPERC
JPERC

BharatPe vs Ashneer Grover: भारतपे के सह-संस्थापक और शार्क टैंक इंडिया के पूर्व जज, अश्नीर ग्रोवर पर हाल ही में बड़ी धोखाधड़ी के आरोप लगे हैं।

Admission notice

उनकी पत्नी, माधुरी जैन के खिलाफ भी जांच चल रही है। दिल्ली पुलिस की इकॉनोमिक ऑफेंस विंग इन आरोपों की जांच कर रही है।

BharatPe vs Ashneer Grover: भारतपे फ्रॉड केस मामले में अश्नीर ग्रोवर पर फिर छाए संकट के बादल! अब क्या है मामले में नया देखें पूरी डिटेल

हाल ही में जांच से पता चला है कि ग्रोवर और उनकी पत्नी ने कथित रूप से करोड़ों रुपये के फर्जी इनवॉइस का इस्तेमाल किया।

इन इनवॉइस का संबंध उनके परिवार के सदस्यों से जुड़ी कंपनियों से था। इसमें ऐसी कई कंपनियां शामिल थीं, जिनका पता तक नहीं मिल पाया है।

दिल्ली हाईकोर्ट को दी गई जांच रिपोर्ट में यह भी खुलासा हुआ कि कुछ चालानों में उल्लेखित बैंक खाते उस समय खुले ही नहीं थे।

इससे यह स्पष्ट होता है कि ये चालान बाद की तारीखों में बनाए गए थे। इसके अलावा, जांच में 71.76 करोड़ रुपये का फर्जी लेनदेन और फर्जी एचआर कंसल्टेंसी को 7.6 करोड़ रुपये का भुगतान भी सामने आया।

दिन भर की ताजा खबरों के अपडेट के लिए WhatsApp प NewsGhat Media के इस लिंक को क्लिक कर चैनल को फ़ॉलो करें।

इस मामले में अश्नीर ग्रोवर और उनके परिवार के खातों में करोड़ों रुपये के लेनदेन की भी जांच की जा रही है। यह केस अब तेजी से सुर्खियों में आ रहा है और ग्रोवर की मुश्किलें बढ़ती जा रही हैं क्योंकि इस केस में नए-नए खुलासे होते जा रहे हैं।

जैसे-जैसे जांच आगे बढ़ रही है, उनके और उनके परिवार के खिलाफ सबूत मजबूत होते जा रहे हैं। इस मामले में न केवल आर्थिक अपराध की जांच चल रही है, बल्कि यह मामला कॉर्पोरेट दुनिया और उसके अंदरूनी मामलों की गहराई को भी उजागर कर रहा है।

अश्नीर ग्रोवर का यह केस न सिर्फ उनके व्यावसायिक करियर पर एक बड़ा धब्बा है, बल्कि यह भारतीय स्टार्ट-अप इकोसिस्टम में नैतिकता और पारदर्शिता के महत्व को भी रेखांकित करता है।

इस मामले का निष्कर्ष न सिर्फ ग्रोवर और उनके परिवार के भविष्य को प्रभावित करेगा, बल्कि यह अन्य उद्यमियों के लिए भी एक सबक के रूप में काम कर सकता है।

इस प्रकार, यह मामला न केवल आर्थिक बल्कि सामाजिक और नैतिक पहलुओं पर भी गहरा प्रभाव डाल सकता है।

दिन भर की ताजा खबरों के अपडेट के लिए WhatsApp प NewsGhat Media के इस लिंक को क्लिक कर चैनल को फ़ॉलो करें।

Written by Newsghat Desk

Paonta Sahib: 34 साल का युवक कर रहा था ये गंदा काम! पुलिस ने रंगेहाथ धरा लिया! देखें पूरी डिटेल

Google Pay Instant Loan: छोटे व्यापारियों की बल्ले बल्ले! अब गूगल पे के माध्यम से लें 15000 रुपये का इंस्टैंट पर्सनल लोन! कौन ले सकता है लोन यहां देखें पूरी डिटेल