Paonta Cong
in

Banking Tips : नहीं चुका पा रहे हैं बैंक लोन तो घबराएं नहीं, ये तरीका अपनाएंगे तो बैंक नही वसूलेगा EMI

Banking Tips : नहीं चुका पा रहे हैं बैंक लोन तो घबराएं नहीं, ये तरीका अपनाएंगे तो बैंक नही वसूलेगा EMI
Banking Tips : नहीं चुका पा रहे हैं बैंक लोन तो घबराएं नहीं, ये तरीका अपनाएंगे तो बैंक नही वसूलेगा EMI

Banking Tips : नहीं चुका पा रहे हैं बैंक लोन तो घबराएं नहीं, ये तरीका अपनाएंगे तो बैंक नही वसूलेगा EMI

Admission notice

यदि आपने आज के समय में लोन ले लिया है तथा आप लोन नहीं चुका पा रहे है, तब ऐसे स्थिति में आपको बैंक आपका लोन बिना पेमेंट के बंद करने के लिए सेटेलमेंट लेटर भी भेज सकता है, तो आइए इसकी जानकारी लेते हैं।

आज के समय में लोग बहुत बार लोन ले तो लेते है, लेकिन लोन की जो राशि होती है वह उसका भुगतान कई बार समय पर नहीं कर पाते हैं। और इस वजह से जो व्यक्ति होता हैं उसको कई समस्याओं का सामना करना पड़ता हैं तथा उसको कई परेशानी भी होती हैं।

यदि आज के समय में आप अपना जो लोन है उसका भुगतान 91 दिनों तक नहीं कर पाते हैं, तब फिर आपको बैंक की तरफ से नोटिस भेजा जाता है तथा आपका जो लोन होता है, उसको नॉन परफॉर्मिंग एसेट (एनपीए) की कैटेगरी में डाल दिया जाता हैं। यदि आपने लोन लेते समय कुछ गारंटी दी है, ऐसे में फिर जो बैंक होता हैं उस पर अपना अधिकार जमाने की कोशिश करता है।

लोगों के पास कई बैंक अकाउंट होते
हैं

आपको बताते चलें कि लोगों के पास आज के समय में कई बैंक अकाउंट होते हैं, और जिसने पास एक से अधिक बैंक अकाउंट होता है, उन्हें कुछ फायदे मिलते हैं तब ऐसे में कुछ नुकसान भी होता है। यदि आपके पास एक से अधिक बैंक अकाउंट है तब उसके विभिन्न ऑफर्स, डिस्काउंट प्रीमियम डेबिट कार्ड के फायदे मिलने लगता है।

Bank Settlement Offer

आज के समय में बैंक की तरफ से बहुत बार अनुरोध किया जाता हैं। फिर इसके बाद भी लोग लोन का भुगतान नही करते हैं, तब फिर बैंक की तरफ से एक प्रस्ताव भेजा जाता हैं, और यह प्रस्ताव लोन सेटलमेंट प्रस्ताव का होता हैं। तथा इस प्रस्ताव में बैंक आपको लोन की मूल राशि का भुगतान करने को कहती हैं तथा ब्याज की राशि को माफ करने को कहा जाता है, ताकि आप लोन का भुगतान कर सके।

Bank Write Off
आज के समय में यह जो परिस्थिति होती हैं, उसमे बैंक इंट्रेस, पेनाल्टी, तथा अन्य चार्ज जो लोन का होता हैं बैंक उसको माफ कर देता हैं। तथा कुछ बैंक होते हैं जो मूल राशि होती हैं उसमें भी राहत प्रदान करता है, लेकिन ऐसी जो परिस्थिति होती हैं उसमें आपको कौन सा ऑप्शन का चयन करना चाहिए उसके बारे में हम आपको बताते है।

Settlement कभी भी ख़त्म नहीं होता हैं

आपको बता दे कि आर्थिक मामलों के सलाहकार और जानकर के मुताबिक लोन सेटलमेंट करने से जिसने लोन लिया हैं, उसको रिकवरी एजेंट या फिर एजेंसियों से तो छुटकारा मिल ही जाता है, लेकिन भले ही जो बैंक होते हैं वह अपनी शर्तो के साथ ड्यू क्लीयर कर देता है, लेकिन आपको यह बात पता होना चाहिए कि जो लोन सेटलमेंट होता हैं, उसको आपको कभी लोन क्लोज नहीं समझना चाहिए।

क्योंकि जो लोन होता है, उस समय तक क्लोज नही होता हैं तब तक जब तक आप लोन की सारी किस्तें है उसका भुगतान नहीं कर देते हैं, ऐसे में आप समय रहते अपना लोन सेटल कर दे ताकि किसी तरह की समस्या न आए।

Written by newsghat

अब मुश्किल नही बिजनेस शुरू करने के लिए फंडिंग जुटना, इसे जान लेंगे तो आसानी से जुटा पाएंगे फंडिंग

अब मुश्किल नही बिजनेस शुरू करने के लिए फंडिंग जुटना, इसे जान लेंगे तो आसानी से जुटा पाएंगे फंडिंग

पाँवटा साहिब में नौकरी देने के नाम पर पूर्व सैनिक से ठगे लाखों, शिकायत के बाद हरकत में आई पुलिस