in , , , , , , , ,

Car Insurance Alert: अपनी कार को सीएनजी ये ईवी में बदलने जा रहे हैं? पहले इंश्योरेंस का रखें ध्यान! इन बातों नही दिया ध्यान तो हो जाएगी बड़ी मुश्किल! देखें पूरी डिटेल

Car Insurance Alert: अपनी कार को सीएनजी ये ईवी में बदलने जा रहे हैं? पहले इंश्योरेंस का रखें ध्यान! इन बातों नही दिया ध्यान तो हो जाएगी बड़ी मुश्किल! देखें पूरी डिटेल

Car Insurance Alert: अपनी कार को सीएनजी ये ईवी में बदलने जा रहे हैं? पहले इंश्योरेंस का रखें ध्यान! इन बातों नही दिया ध्यान तो हो जाएगी बड़ी मुश्किल! देखें पूरी डिटेल

Car Insurance Alert: दिल्ली और भारत के अन्य बड़े शहरों में हवा की गुणवत्ता में गिरावट और प्रदूषण के बढ़ते स्तर के कारण, लोगों को सीएनजी (CNG) और इलेक्ट्रिक वाहनों (EV) की ओर रुख करने की सलाह दी जा रही है।

Car Insurance Alert: अपनी कार को सीएनजी ये ईवी में बदलने जा रहे हैं? पहले इंश्योरेंस का रखें ध्यान! इन बातों नही दिया ध्यान तो हो जाएगी बड़ी मुश्किल! देखें पूरी डिटेल

विशेषकर नवंबर 2023 में, जब राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (NCR) में बीएस 3 और बीएस 4 वाहनों पर प्रतिबंध लगाया गया, तो यह परिवर्तन और भी आवश्यक हो गया।

दिन भर की ताजा खबरों के अपडेट के लिए WhatsApp प NewsGhat Media के इस लिंक को क्लिक कर चैनल को फ़ॉलो करें।

जो लोग नए वाहन नहीं खरीद सकते, वे अपने मौजूदा वाहनों को सीएनजी या ईवी में परिवर्तित करने का विचार कर रहे हैं।

Plot for sale
Plot for sale

इस परिवर्तन के साथ ही, वाहन के बीमा पर विचार करना भी जरूरी है। बीमा कंपनियां बताती हैं कि वाहन में किए गए किसी भी बदलाव की जानकारी उन्हें देनी चाहिए। ऐसा न करने पर, दुर्घटना के समय कंपनी दावे को खारिज भी कर सकती है।

Kidzee 02
Kidzee 02

एचडीएफसी ईआरजीओ जनरल इंश्योरेंस के अध्यक्ष पार्थानिल घोष के अनुसार, वाहन में बदलाव की सूचना न देने पर बीमा दावे की प्रक्रिया में समस्याएं आ सकती हैं।

दिन भर की ताजा खबरों के अपडेट के लिए WhatsApp प NewsGhat Media के इस लिंक को क्लिक कर चैनल को फ़ॉलो करें।

Republic Day 01
Republic Day 01

डिजिट जनरल इंश्योरेंस के मोटर अंडरराइटिंग प्रमुख आदित्य कुमार ने भी इसी तरह के विचार व्यक्त किए। उन्होंने कहा कि जब भी कोई वाहन मालिक अपने वाहन के ईंधन प्रकार में बदलाव करता है, तो उसे तुरंत ही अपनी बीमा कंपनी को सूचित करना चाहिए।

इससे वाहन की बीमा पॉलिसी के प्रीमियम और इंश्योर्ड डिक्लेयर्ड वैल्यू (IDV) पर प्रभाव पड़ सकता है। आदित्य कुमार ने यह भी बताया कि वाहन में किए गए इस तरह के बदलाव से बीमा कंपनी के लिए जोखिम का स्तर बदल जाता है, और यदि इस बदलाव की जानकारी समय पर नहीं दी जाती है, तो भविष्य में क्लेम सेटलमेंट में दिक्कतें आ सकती हैं।

इसलिए यह बेहद जरूरी है कि वाहन मालिक अपने वाहन के बदलाव के संबंध में बीमा कंपनी को सूचित करें, ताकि उनकी बीमा पॉलिसी उपयुक्त रूप से अपडेट हो सके और भविष्य में किसी भी अप्रिय स्थिति में वे बीमा क्लेम का लाभ उठा सकें।

इस प्रक्रिया में थोड़ी सी भी चूक वाहन मालिक के लिए आर्थिक और कानूनी जोखिम का कारण बन सकती है। अतः वाहन के परिवर्तन के दौरान सतर्कता और सावधानी बरतना महत्वपूर्ण है।

दिन भर की ताजा खबरों के अपडेट के लिए WhatsApp प NewsGhat Media के इस लिंक को क्लिक कर चैनल को फ़ॉलो करें।

Written by Newsghat Desk

Prime Video Special Offer: प्राइम वीडियो लाया खेल प्रेमियों के लिए विशेष सब्सक्रिप्शन ऑफर! आपके लिए क्या है इसमें खास देखें पूरी डिटेल

HP Govt Job Alert: हिमाचल प्रदेश स्वास्थ्य विभाग में होगी 700 पदों पर भर्ती! स्वास्थ्य मंत्री डॉ धनीराम शांडिल ने दी ये अहम जानकारी! यहां देखें पूरी डिटेल

HP Govt Job Alert: हिमाचल प्रदेश स्वास्थ्य विभाग में होगी 700 पदों पर भर्ती! स्वास्थ्य मंत्री डॉ धनीराम शांडिल ने दी ये अहम जानकारी! यहां देखें पूरी डिटेल