in

Credit Card Tips : क्रेडिट कार्ड पर EMI का ऑप्शन चुनते समय इस बातों का रखें ध्यान

Credit Card Tips : क्रेडिट कार्ड पर EMI का ऑप्शन चुनते समय इस बातों का रखें ध्यान

इन टिप्स का रखेंगे ध्यान तो रहेंगे फायदे में…

लोग क्रेडिट कार्ड से महंगी चीजों की खरीदारी करना एक अच्छा विकल्प मानते हैं। क्योंकि क्रेडिट कार्ड ईएमआई स्कीम के द्वारा 2500 रुपए से अधिक की चीजों को एक निश्चित अवधि के दौरान समान मासिक किस्तों मे परिवर्तित किया जा सकता है।

इस तरह क्रेडिट कार्ड के द्वारा पूरा पेमेंट एक साथ करने से बचा जा सकता है। यदि आपको लगता है कि आप नियमित इन ईएमआई को चुका सकते हैं तो यह ऑप्शन आपके लिए बेस्ट हो सकता है लेकिन आपको क्रेडिट कार्ड के लिए कुछ जरूरी जानकारी रखना आवश्यक है।

जाने क्रेडिट कार्ड की पूरी जानकारी

लगभग अधिकांश क्रेडिट कार्ड में ईएमआई की सुविधा दी जाती है लेकिन फिर भी आपको अपने मौजूदा या लेने वाले नए क्रेडिट कार्ड में इस बात को जान लेना चाहिए कि उसमें ईएमआई की सुविधा है अथवा नहीं।

लगभग सभी बैंकों के क्रेडिट कार्ड की ईएमआई को लेकर अलग-अलग पॉलिसी होती है। इसलिए आपको इस बात की जानकारी होना आवश्यक है कि आप के क्रेडिट कार्ड पर किस तरह के चार्ज लगते हैं व क्या लाभ मिलते हैं।

Holi-2
Holi-2

प्रोसेसिंग फीस पर मोलभाव

जब आप क्रेडिट कार्ड द्वारा EMI का विकल्प चुनते हैं तो बैंक आपसे एक बार प्रोसेसिंग फीस वसूल करता है। यदि आपकी रीपेमेंट हिस्ट्री बढ़िया है और आप बैंक के निरंतर वफादार ग्राहक रहे हैं तो आप प्रोसेसिंग फीस पर मोलभाव कर सकते हैं।

टोटल क्रेडिट लिमिट हो जाती है कम

आप जैसे-जैसे ईएमआई को खरीदारी में बदलते जाते हैं उतनी राशि आपके क्रेडिट कार्ड से कम हो जाती है। आप जब ईएमआई चुकाते जाएंगे तब उसी अनुसार आपके क्रेडिट लिमिट बढ़ती जाएगी।

ऑनलाइन खरीदारी पर मिलती है सुविधाएं

यदि आप क्रेडिट कार्ड द्वारा ऑनलाइन किसी सामान की खरीदारी करते हैं तो आपको कई तरह के ऑफर दिए जाते हैं। साथ ही नो कॉस्ट-ईएमआई लोन चुकाने के लिए भी भिन्न-भिन्न अवधिया चुनने का अवसर भी मिलता है।

समय पर करें पूरी पेमेंट

यदि आप समय पर ईएमआई का फुल पेमेंट नहीं करते हैं तो आपको पेनल्टी या एडिशनल इंटरेस्ट देना पड़ सकता है।

प्रीपमेंट फीस

यदि आप अपने क्रेडिट कार्ड की ईएमआई पर फायदा उठाना चाहते हैं तो एक बार अपने बैंक से प्रीपेमेंट फीस के बारे में अवश्य जान ले। यदि प्रीपेमेंट फीस ली जा रही है तो बैंक से इसे समाप्त करने के संबंध में बात कर सकते हैं। यदि आप बैंक के एक वफादार ग्राहक है और आपकी रीपेमेंट हिस्ट्री शानदार है तो बैंक ऐसा करने के लिए तैयार हो जाते हैं।

Written by Newsghat Desk

Insurance : लाइफ इंश्योरेंस पॉलिसी खरीदना पड़ेगा अब महंगा, देखें लिस्ट

टेलीग्राम पर अब मैसेज रिएक्शन, In-App Translation फीचर्स देंगे तगड़ा एक्सपीरियंस