in , , , , ,

Crypto Currency News: क्रिप्टो करेंसी की दुनिया में भूचाल! विश्व के सबसे बड़े क्रिप्टो एक्सचेंज पर लगे गंभीर आरोप! क्या है पूरा मामला देखें रिपोर्ट

Crypto Currency News: क्रिप्टो करेंसी की दुनिया में भूचाल! विश्व के सबसे बड़े क्रिप्टो एक्सचेंज पर लगे गंभीर आरोप! क्या है पूरा मामला देखें रिपोर्ट

Crypto Currency News: क्रिप्टो करेंसी की दुनिया में भूचाल! विश्व के सबसे बड़े क्रिप्टो एक्सचेंज पर लगे गंभीर आरोप! क्या है पूरा मामला देखें रिपोर्ट

 

Crypto Currency News: दुनिया के सबसे बड़े क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंजों में से एक बाइनेंस विवादों के घेरे में है। इसके पास 65 बिलियन डॉलर के क्रिप्टो असेट्स हैं, और इसके संस्थापक, Changpeng Zhao (CZ) की संपत्ति 1,020 करोड़ डॉलर आंकी गई है।

Crypto Currency News: क्रिप्टो करेंसी की दुनिया में भूचाल! विश्व के सबसे बड़े क्रिप्टो एक्सचेंज पर लगे गंभीर आरोप! क्या है पूरा मामला देखें रिपोर्ट

बाइनेंस पर क्या है आरोप? अमेरिकी न्याय विभाग के मुताबिक, बाइनेंस पर मनी लॉन्ड्रिंग, बिना लाइसेंस के मनी ट्रांसमिशन, और नियमों के उल्लंघन के गंभीर आरोप हैं।

इसमें टेरर फाइनेंसिंग को नजरअंदाज करने का आरोप भी शामिल है, जैसे कि हमास और इस्लामिक स्टेट जैसे आतंकी संगठनों से जुड़े लेन-देन।

Plot for sale
Plot for sale

दिन भर की ताजा खबरों के अपडेट के लिए WhatsApp प NewsGhat Media के इस लिंक को क्लिक कर चैनल को फ़ॉलो करें।

Kidzee 02
Kidzee 02

बाइनेंस की और से आया ये जवाब: बाइनेंस का कहना है कि वे तेजी से बढ़ते सेक्टर में कुछ गलतियाँ कर बैठे हैं और इसके लिए जिम्मेदारी लेते हैं।

क्या हैं भविष्य की चुनौतियाँ? इस घटनाक्रम के बाद, बाइनेंस के लिए आगे की राह कठिन दिख रही है। उन्होंने नए CEO के तौर पर रिचर्ड टेंग को नियुक्त किया है, लेकिन इस खबर के बाद 500 मिलियन डॉलर के असेट्स को निकाला जा चुका है।

Republic Day 01
Republic Day 01

क्या होगा भारत पर प्रभाव: इस घटनाक्रम का भारतीय क्रिप्टो बाजार पर पर भी गहरा प्रभाव पड़ सकता है। जब पिछले साल क्रिप्टो पर टैक्स के नियम लागू हुए, तो बहुत से निवेशकों ने विदेशी एक्सचेंजों की ओर रुख किया था।

लेकिन FTX और अब बाइनेंस के मामलों ने क्रिप्टो असेट्स के खिलाफ जनता के विश्वास को डगमगा दिया है।

इससे भारतीय क्रिप्टो बाजार में निवेशकों की धारणाओं पर असर पड़ सकता है, और निवेश में गिरावट आ सकती है।

केंद्रीय मंत्री राजीव चंद्रशेखर के अनुसार, बाइनेंस और FTX के मामले यह दर्शाते हैं कि नई तकनीक का उपयोग कानूनी सीमाओं के भीतर होना चाहिए। मोदी सरकार के क्रिप्टो पर अप्रोच ने कई मेल्टडाउन और नुकसान से बचने में मदद की है।

इस तरह, बाइनेंस का मामला भारतीय बाजार के लिए एक सबक के रूप में काम कर सकता है, जिससे भारतीय क्रिप्टो बाजार अधिक सतर्क और नियामक रूप से अनुपालन में बढ़ सकता है।

दिन भर की ताजा खबरों के अपडेट के लिए WhatsApp प NewsGhat Media के इस लिंक को क्लिक कर चैनल को फ़ॉलो करें।

Written by Newsghat Desk

Demat Account 2023: वाह! अब बच्चों के नाम पर खोल सकते हैं डीमैट खाता! ये दस्तावेज हैं अनिवार्य देखें पूरी डिटेल

HP News Alert: हिमाचल में महिलाओं को 1500 रुपये देने पर उपमुख्यमंत्री मुकेश अग्निहोत्री ने कही ये बड़ी बात! एक क्लिक में देखें क्या बोलें डिप्टी सीएम