in

Cryptocurrency : युवा निवेशक क्रिप्टो में जमकर लगा रहे है पैसा

Cryptocurrency : युवा निवेशक क्रिप्टो में जमकर लगा रहे है पैसा

युवाओं की पहली पसंद अब क्रिप्टो

आज के समय मे यह देखा गया है कि समय समय पर आरबीआई (Reserve bank of india) बार-बार क्रिप्टो करेंसी (crypto currency) व इसके निवेशकों को आगाह कर रहा है, पर क्रिप्टों में पैसा लगाने वालों के कान पर जूं तक नहीं रेंग रहा है।

निवेशक (bitcoin currency) लगातार क्रिप्टों में अपना निवेश बढ़ाते ही जा रहे हैं, निवेश पहले की अपेक्षा अब ज्यादा करने लगे है।

जयपुर में बिटकॉइन जैसी क्रिप्टोकरेंसी में इन्वेस्टमेंट को लेकर होड़ सी मच गई है, तथा यहीं कारण है वर्तमान में अब तक जयपुर में करीब एक लाख लोगों ने क्रिप्टोकरेंसी में निवेश किया है, तथा यह आंकड़ा प्रतिदिन बढ़ता ही जा रहा है।

यदि हम बात पूरे भारत की करें तब भारत मे करीब 2 करोड़ लोग अबतक क्रिप्टोकरेंसी में निवेश कर चुके है। तथा जयपुर के एक लाख लोगों ने क्रिप्टोकरेंसी में करीब 150 करोड़ का निवेश अबतक किया है।

Holi-2
Holi-2

युवाओं की पहली पसंद अब क्रिप्टो

आपको बता दे कि करोड़पति युवाओं की पहली पसंद अब क्रिप्टो बन चुका है, तथा अमेरिका में अधिकांश युवा करोड़पति अपना पैसा, क्रिप्टो करेंसी में ही इन्वेस्ट करने लगा हैं, साथ ही दुनिया के कई और भी देश में भी इसी तरह का चलन देखने को मिल रहा है।

इसके साथ ही इसे कुछ देश कानूनी मान्यता भी दे चुके हैं, वही हम भारत की बात करे तब यहां अभी तक क्रिप्टो का भविष्य साफ नहीं है, इसके बावजूद लोग इसमें बिना डर पैसा निवेश कर रहे है।

क्रिप्टो के विरोध में आरबीआई हमेशा से

बात करे RBI की तब, वैकल्पिक मुद्राओं को मान्यता देने के विरोध में आरबीआई हमेशा से अडिग रहा है। केंद्रीय बैंक को सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद 2018 में क्रिप्टोकरेंसी पर प्रतिबंध को वापस लेने के लिए मजबूर किया गया था पर इसने क्रिप्टोकरेंसी पर अपनी राय अब तक नहीं बदला है।

क्यों बना हुआ डर…

आपको बता दे कि इसे कोई सरकार या कोई विनियामक अथॉरिटी इसे जारी नहीं करता है तथा इसके अलावा टैक्स, मनी लॉन्ड्रिंग, इनसोल्वेंसिंग कोड, पेमेंट सिस्टम, निजता व डाटा प्रोटेक्शन भी बड़ी चुनौतियां बना रहता है।

घोटालों की संख्या बढ़कर 3300 हुई

हम पिछले साल की बात करे तब साल 2021 में क्रिप्टोकरेंसी के बाजार में सक्रिय वित्तीय घोटालों की संख्या 2020 के 2052 के आंकड़े से बढ़कर 3300 हो गया था, वही दुनिया की लोकप्रिय क्रिप्टोकरेंसी इथेरियम व बिटकॉइन के मूल्य में वृद्धि के साथ इनमें निवेश करने वाले निवेशकों के साथ घोटाले होने की वारदातों में भी बड़ा इजाफा हुआ है, इसके कारण लोगों के मन में डर बना हुआ है।

क्रिप्टो करेंसी क्या है ?

आज के समय मे सभी लोग इसके बारे में जानते है, तथा क्रिप्टो करेंसी किसी मुद्रा का एक डिजिटल रूप है और यह किसी सिक्के या नोट की तरह ठोस रूप में आपकी जेब में नहीं होता है, पंरतु यह पूरी तरह से ऑनलाइन रूप में मौजूद होता है, और व्यापार के रूप में बिना किसी नियमों के इसके जरिए व्यापार होता है।

वर्तमान में क्रिप्टो करेंसी को नियंत्रित करने के लिए कुछ नियम बनाने होंगे, तथा इनकी प्रतियोगिता की कोई जरूरत नहीं है, क्योकि क्रिप्टो करेंसी के सार्वजनिक व केंद्रीय बैंक साथ-साथ चल सकते हैं, इसके साथ ही पूरी दूनिया में इसका चलन बढ़ रहा है, यदि भारत में इस पर बैन लगता है, तब हम एक बार फिर डिजिटल रूप से दूनिया से पीछड़ जाएंगे।

Written by Newsghat Desk

पर्यटकों से भरी गाड़ी दलदल में फांसी, बड़ा हादसा टला…

साधारण लड़की बन गयी ब्यूटी क्वीन, क्या रही स्ट्रेटिजी ?