in , , , , ,

Fake GST Bill: शॉपिंग के बाद कहीं दुकानदार ने आपको तो नही थमा दिया फर्जी जीएसटी बिल! कैसे पहचाने कि कहीं आप भी तो नहीं हो गए हैं धोखाधड़ी का शिकार! यहां देखें पूरी डिटेल

Fake GST Bill: शॉपिंग के बाद कहीं दुकानदार ने आपको तो नही थमा दिया फर्जी जीएसटी बिल! कैसे पहचाने कि कहीं आप भी तो नहीं हो गए हैं धोखाधड़ी का शिकार! यहां देखें पूरी डिटेल

Fake GST Bill: शॉपिंग के बाद कहीं दुकानदार ने आपको तो नही थमा दिया फर्जी जीएसटी बिल! कैसे पहचाने कि कहीं आप भी तो नहीं हो गए हैं धोखाधड़ी का शिकार! यहां देखें पूरी डिटेल

Fake GST Bill: 2017 में लागू किए गए वस्तु एवं सेवा कर (GST) ने भारत में कर प्रणाली को सरल बनाया। लेकिन इसके साथ ही, फर्जी GST इनवॉयस बिल के रूप में धोखाधड़ी भी बढ़ी।

Fake GST Bill: शॉपिंग के बाद कहीं दुकानदार ने आपको तो नही थमा दिया फर्जी जीएसटी बिल! कैसे पहचाने कि कहीं आप भी तो नहीं हो गए हैं धोखाधड़ी का शिकार! यहां देखें पूरी डिटेल

ये फर्जी बिल न केवल टैक्स चोरी का कारण बनते हैं, बल्कि ग्राहकों और छोटे व्यापारियों के लिए भी परेशानी का सबब बन जाते हैं।

Fake GST Bill: फर्जी GST बिल की पहचान कैसे करें?

नकली GST चालान की पहचान करने के लिए कुछ बुनियादी चीजों पर ध्यान देना चाहिए।

1. GSTIN Verification: जीएसटी पोर्टल पर जाकर बिल पर दिए गए GSTIN नंबर की जांच करें। यदि यह वैध है, तो वेबसाइट आपको संबंधित विवरण प्रदान करेगी।

Plot for sale
Plot for sale

2. GSTIN Format: GSTIN नंबर का फॉर्मेट समझें। पहले दो अंक राज्य कोड होते हैं, अगले 10 अंक सेलर का PAN नंबर, 13वां अंक इकाई संख्या, 14वां अंक ‘Z’ और 15वां अंक चेकसम डिजिट होता है।

Fake GST Bill: फर्जी GST चालान की रिपोर्टिंग…

Kidzee 02
Kidzee 02

दिन भर की ताजा खबरों के अपडेट के लिए WhatsApp प NewsGhat Media के इस लिंक को क्लिक कर चैनल को फ़ॉलो करें।

यदि आपको लगता है कि आपको एक फर्जी GST चालान मिला है, तो आप इसे कई तरीकों से रिपोर्ट कर सकते हैं।

Republic Day 01
Republic Day 01

1. जीएसटी पोर्टल पर शिकायत दर्ज करें: आप जीएसटी पोर्टल पर जाकर ‘सीबीईसी मित्र हेल्पडेस्क’ के माध्यम से शिकायत दर्ज कर सकते हैं।

इसके लिए आपको ‘रेज़ वेब टिकट’ का विकल्प चुनना होगा और फिर अपनी शिकायत का विवरण भरना होगा।

2. ईमेल के माध्यम से शिकायत: आप cbecmitra.heldesk@icegate.gov.in पर ईमेल भेजकर भी अपनी शिकायत दर्ज करा सकते हैं।

ईमेल में आपको फर्जी बिल का विवरण, उससे संबंधित सभी जानकारी और संभव हो तो बिल की प्रतिलिपि भी शामिल करनी चाहिए।

3. सोशल मीडिया के माध्यम से संपर्क करें: जीएसटी के आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर संपर्क करके भी आप अपनी शिकायत दर्ज करा सकते हैं। यहां आप अपनी समस्या का विवरण देकर त्वरित मदद मांग सकते हैं।

इन तरीकों से आप न केवल फर्जी GST बिल के खिलाफ अपनी आवाज उठा सकते हैं, बल्कि इस तरह की धोखाधड़ी को रोकने में भी मदद कर सकते हैं। याद रखें, सतर्क रहना और सही जानकारी प्राप्त करना इस तरह के फर्जीवाड़े से बचने का सबसे अच्छा उपाय है।

दिन भर की ताजा खबरों के अपडेट के लिए WhatsApp प NewsGhat Media के इस लिंक को क्लिक कर चैनल को फ़ॉलो करें।

Written by Newsghat Desk

Good Relationship Tips: पार्टनर के साथ रिश्तों आ गई है इनसिक्योरिटी की भावना तो हो जाएं अलर्ट! अगर ऐसे करें इनसिक्योरिटी का सामना तो रिश्ता फिर से हो जाएगा मजबूत

Good Parenting Tips: क्या आप भी कसते हैं बच्चों को ताने? आपके इस रवैए से बच्चों पर कैसे पड़ता है नकारात्मक प्रभाव देखें पूरी डिटेल