in , , , , ,

Guidelines For Coaching Centres: कोचिंग संस्थानों के छात्रों के लिए बड़ी राहत! केंद्र ने लागू की नई गाइडलाइन! देखें पूरी डिटेल

Guidelines For Coaching Centres: कोचिंग संस्थानों के छात्रों के लिए बड़ी राहत! केंद्र ने लागू की नई गाइडलाइन! देखें पूरी डिटेल

Guidelines For Coaching Centres: कोचिंग संस्थानों के छात्रों के लिए बड़ी राहत! केंद्र ने लागू की नई गाइडलाइन! देखें पूरी डिटेल

16 साल से कम उम्र के बच्चों को नहीं मिलेगा एडमिशन

भ्रामक वादे और अच्छे नंबरों की गारंटी पर पाबंदी

कोचिंग सेंटर्स को छात्रों की मानसिक सेहत पर ध्यान देना होगा

कोचिंग सेंटर्स को को-करिकुलम एक्टिविटीज और करियर गाइडेंस देना होगा

Plot for sale
Plot for sale

नए और मौजूदा कोचिंग सेंटर्स का रजिस्ट्रेशन होगा

Kidzee 02
Kidzee 02

राज्य सरकारों को निगरानी की जिम्मेदारी

Guidelines For Coaching Centres: भारत सरकार के शिक्षा मंत्रालय ने देशभर के कोचिंग इंस्टीट्यूट्स के लिए नई गाइडलाइन जारी की है।

Republic Day 01
Republic Day 01

इन गाइडलाइन का उद्देश्य कोचिंग सेंटर्स को अधिक जिम्मेदार बनाना और छात्रों की सुरक्षा और बेहतर शिक्षा सुनिश्चित करना है।

Guidelines For Coaching Centres: कोचिंग संस्थानों के छात्रों के लिए बड़ी राहत! केंद्र ने लागू की नई गाइडलाइन! देखें पूरी डिटेल

गाइडलाइन के प्रमुख प्रावधान……

दिन भर की ताजा खबरों के अपडेट के लिए WhatsApp प NewsGha Media के इस लिंक को क्लिक कर चैनल को फ़ॉलो करें।

16 साल से कम उम्र के बच्चों को नहीं मिलेगा एडमिशन: इन गाइडलाइन के तहत अब कोचिंग इंस्टीट्यूट्स 16 साल से कम उम्र के बच्चों को एडमिशन नहीं दे सकेंगे।

इससे छात्रों पर पढ़ाई का अनावश्यक दबाव कम होगा और उनकी मानसिक सेहत को नुकसान पहुंचने से बचाया जा सकेगा।

भ्रामक वादे और अच्छे नंबरों की गारंटी पर पाबंदी: इन गाइडलाइन के तहत कोचिंग इंस्टीट्यूट्स को भ्रामक वादे करने और छात्रों को अच्छे नंबरों की गारंटी देने पर पाबंदी लगा दी गई है। इससे छात्रों को धोखा देने और उनसे अधिक फीस वसूलने से रोका जा सकेगा।

दिन भर की ताजा खबरों के अपडेट के लिए WhatsApp प NewsGha Media के इस लिंक को क्लिक कर चैनल को फ़ॉलो करें।

कोचिंग सेंटर्स को छात्रों की मानसिक सेहत पर ध्यान देना होगा: इन गाइडलाइन के तहत कोचिंग सेंटर्स को छात्रों की मानसिक सेहत पर ध्यान देना होगा। इसके लिए उन्हें छात्रों के लिए साइकोलॉजिकल हेल्पलाइन और काउंसलिंग सेवाएं उपलब्ध करानी होंगी।

कोचिंग सेंटर्स को को-करिकुलम एक्टिविटीज और करियर गाइडेंस देना होगा: इन गाइडलाइन के तहत कोचिंग सेंटर्स को छात्रों को को-करिकुलम एक्टिविटीज और करियर गाइडेंस देना होगा। इससे छात्रों को सिर्फ पढ़ाई पर ही ध्यान केंद्रित नहीं करना पड़ेगा और उनका सर्वांगीण विकास होगा।

नए और मौजूदा कोचिंग सेंटर्स का रजिस्ट्रेशन होगा: इन गाइडलाइन के तहत नए और मौजूदा कोचिंग सेंटर्स का रजिस्ट्रेशन होगा। इससे कोचिंग सेंटर्स की गुणवत्ता को बेहतर बनाया जा सकेगा और छात्रों को अधिक सुरक्षा मिलेगी।

राज्य सरकारों को निगरानी की जिम्मेदारी: इन गाइडलाइन के तहत राज्य सरकारों को कोचिंग सेंटर्स की निगरानी की जिम्मेदारी दी गई है। राज्य सरकारों को यह सुनिश्चित करना होगा कि सभी कोचिंग सेंटर्स इन गाइडलाइन का पालन करें।

नई गाइडलाइन के महत्व:

इन नई गाइडलाइन का छात्रों के लिए काफी महत्व है। इससे छात्रों पर पढ़ाई का अनावश्यक दबाव कम होगा, उन्हें भ्रामक वादे और अच्छे नंबरों की गारंटी से बचाया जा सकेगा, उनकी मानसिक सेहत को बेहतर बनाने में मदद मिलेगी, उन्हें को-करिकुलम एक्टिविटीज और करियर गाइडेंस मिलने से उनका सर्वांगीण विकास होगा और अधिक सुरक्षित वातावरण में पढ़ाई करने का मौका मिलेगा।

कोचिंग संस्थानों के लिए चुनौती:

इन नई गाइडलाइन को लागू करना कोचिंग संस्थानों के लिए एक चुनौती होगी। उन्हें अपने शिक्षण और प्रबंधन में बदलाव करने होंगे। उन्हें छात्रों की मानसिक सेहत पर ध्यान देने के लिए भी तैयार रहना होगा।

दिन भर की ताजा खबरों के अपडेट के लिए WhatsApp प NewsGha Media के इस लिंक को क्लिक कर चैनल को फ़ॉलो करें।

Written by Newsghat Desk

Paonta Sahib: कृषि शिक्षा भी हो सकती है उज्जवल भविष्य का आधार: डॉ पंकज मित्तल

Himachal Govt Job Alert: हिमाचल में जल शक्ति विभाग में 4500 नौकरियों के लिए भर्ती शुरू! युवाओं को रोजगार का नया अवसर! देखें पूरी डिटेल