in

Health Insurance 5 Useful Points : महंगाई के जमाने में अच्छे इलाज की गारंटी है हेल्थ इंश्योरेंस

Health Insurance 5 Useful Points : महंगाई के जमाने में अच्छे इलाज की गारंटी है हेल्थ इंश्योरेंस

Health Insurance लेने से पहले ध्यान रखें ये 5 बातें…

आज के समय मे अनेक तरह की समस्या समय समय पर पड़ता रहता है, और ऐसे में लगातार बढ़ती महंगाई के साथ देश में हेल्थकेयर भी काफी महंगा हो रहा है, और वही दूसरी ओर, लाइफस्टाइल, स्ट्रेस व अन्य कई वजहों से लोगों में कम उम्र में ही कई तरह की गंभीर बीमारियां देखने को मिलता है।

वर्तमान समय मे ऐसे में हेल्थ इंश्योरेंस (Health Insurance) सभी के लिए काफी जरूरी हो गया है, व पिछले दो साल में कोरोना संकट ने इसकी अहमियत को और भी बढ़ा दिया है, इस बात की जानकारी होना चाहिए कि हेल्थ इंश्योरेंस से ना सिर्फ आपकी मेहनत की कमाई अचानक खर्च होने से बच जाता है। परन्तु आपको और पॉलिसी में शामिल आपके परिवार के सदस्यों को अच्छा इलाज भी मिलता है।

तो जानिए कि हेल्थ इंश्योरेंस सबके लिए क्यों जरूरी है तथा इसे लेने से पूर्व कौन-सी अहम बातों का ध्यान रखना चाहिए….

1. लाइफस्टाइल से जुड़ी बीमारियों के मामले बढ़े

Holi-2
Holi-2

आज का समय ऐसा नहीं है कि आपको 60 साल की उम्र में ही हेल्थ इंश्योरेंस की जरूरत पड़ेगा, आज के समय मे स्क्रीन पर लंबे समय तक काम करने व काफी अधिक शारीरिक गतिविधियां नहीं होने के कारण कम उम्र में ही लोगों में हार्ट अटैक, कैंसर, फेफड़े में संक्रमण व स्ट्रोक के मामले बढ़ रहे हैं, तथा वहीं बीपी व शुगर की समस्याएं तो आज के समय मे बिल्कुल आम हो गया है।

ऐसे में समय पर हेल्थ इंश्योरेंस लेना अहम हो जाता है। आज के समय मे हेल्थ इंश्योरेंस में सालाना हेल्थ चेकअप का भी प्रावधान होता है तथा जिससे लोगों में स्वास्थ्य को लेकर जागरूकता फैल रहा है, आपको ऐसे में शुरुआत में ही किसी तरह की बीमारी का पता चलने पर उसे मैनेज करना आसान हो जाता है। इसलिए आज के समय में हेल्थ इंश्योरेंस बहुत ही जरूरी है।

2. जल्दी खरीदने पर सस्ता पड़ता है पॉलिसी

आज के समय मे यदि आप कम उम्र में पॉलिसी लेते है तब यह सस्ता पड़ता है, उदाहरण के लिए यदि आप 25 साल की आयु में 5 लाख की कवरेज लेते हैं तब आपको 5000 रुपये के प्रीमियम का भुगतान करना पड़ेगा, और वहीं, 35 साल में इतने रुपये की कवरेज के लिए आपको 6000 रुपये व 45 साल की आयु में इंश्योरेंस लेने पर आपको 8000 रुपये के प्रीमियम का भुगतान करना पड़ेगा।

3. आपकी कंपनी का हेल्थ कवर काफी नहीं है

आज के समय मे हेल्थकेयर से जुड़े खर्च में हुई बढ़ोत्तरी की वजह से कंपनी से जो बीमा मिलता है उसे अलग हेल्थ इंश्योरेंस खरीदने की जरूरत को नजरंदाज नहीं किया जा सकता है, तथा किसी आम बीमारी के लिए एक सप्ताह अस्पताल में रहने का खर्च जोड़िए तथा फिर कंपनी की कवरेज से उसकी तुलना कीजिए व ऐसे में इस बात की संभावना बहुत अधिक है कि आप तत्काल हेल्थ इंश्योरेंस खरीदना चाहेंगे।

4. इनकम टैक्स में छूट

यदि आप हेल्थ इंश्योरेंस खरीदते हैं तब आज के समय मे आपको इनकम टैक्स में भी छूट मिलता है, तथा टैक्स व इंवेस्टमेंट एक्सपर्ट बलवंत जैन के मुताबिक इनकम टैक्स के सेक्शन 80D के तहत हेल्थ इंश्योरेंस के लिए किए गए प्रीमियम के भुगतान पर टैक्स में आपको छूट मिलेगा, तथा इसके मुताबिक यदि कोई व्यक्ति हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी खरीदता है तब उसे 25,000 रुपये तक की छूट मिलता है।

यदि वह अपने माता-पिता (60 साल से कम आयु) के लिए पॉलिसी खरीदता है तब उसे और 25,000 रुपये की छूट प्राप्त होता है, यदि आपके माता-पिता की उम्र 60 साल से ज्यादा है तब आपके उनके लिए 50,000 रुपये की छूट मिल जाता है।

5. अब कवरेज हॉस्पिटलाइजेशन से इतर भी मिलता है

आज के समय मे नया हेल्थ इंश्योरेंस प्लान आया है तथा नए हेल्थ प्लान में डे केयर प्लान के साथ-साथ आपको ओपीडी की कवरेज भी मिल जाता है, और अब वेक्टर-जनित रोग की कवरेज भी मिलता है, तथा आज के समय मे मातृत्व से जुड़ी कवरेज भी मिल जाता है।

Written by Newsghat Desk

सिरमौर के ऊपरी क्षेत्रों में बर्फबारी का दौर जारी, बढ़ी परेशानियां

सिरमौर में नर्सिंग एवं मेडिकल कॉलेज को छोड़कर सभी शिक्षण संस्थान बंद डीसी सिरमौर आरके गौतम ने जारी किए ये अहम आदेश… जिला दण्डाधिकारी सिरमौर राम कुमार गौतम ने कोविड संक्रमण की रोकथाम हेतु 06 जनवरी और 08 जनवरी 2022 को जारी आदेशों की निरंतरता में आज आदेश जारी किये हैं जिनके अनुसार जिला में सभी सरकारी और गैर-सरकारी शिक्षण संस्थान तथा सभी आवासीय विद्यालय 26 जनवरी 2022 तक बंद रहेंगे। हालांकि इस दौरान जिला में सभी नर्सिंग एवं मेडिकल कॉलेज को खुले रहने की अनुमति होगी पर उन्हें स्वास्थ्य विभाग द्वारा कोविड 19 से बचाव के सभी उपायों का पालन करना होगा। इस अवधि के दौरान शिक्षण संस्थान ऑनलाइन माध्यम से कक्षाओं और परीक्षाओं का संचालन कर सकेंगे। इन आदेशों का उल्लंघन करने पर सम्बंधित व्यक्ति के विरुद्ध आईपीसी की धारा 188 तथा आपदा प्रबंधन अधिनियम, 2005 की धारा 51 से 60 के तहत कानूनी कार्यवाही की जाएगी। यह आदेश तुरंत प्रभाव से पूरे जिला सिरमौर में लागू होंगे और आगामी आदेशों तक लागू रहेंगे।