in , ,

Himachal Health Alert: हिमाचल के अस्पतालों में टेस्ट करवाने के नए नियम! सरकार और क्रस्ना लैब के बीच विवाद के बाद लागू हुए नए नियम! जानिए क्या है बड़ा बदलाव

Himachal Health Alert: हिमाचल के अस्पतालों में टेस्ट करवाने के नए नियम! सरकार और क्रस्ना लैब के बीच विवाद के बाद लागू हुए नए नियम! जानिए क्या है बड़ा बदलाव

Himachal Health Alert: हिमाचल के अस्पतालों में टेस्ट करवाने के नए नियम! सरकार और क्रस्ना लैब के बीच विवाद के बाद लागू हुए नए नियम! जानिए क्या है बड़ा बदलाव

Himachal Health Alert: हिमाचल प्रदेश के स्वास्थ्य विभाग ने अस्पतालों में टेस्ट करवाने के लिए नए नियम बनाए हैं।

इन नियमों के तहत, अब क्रस्ना लैब में किसी भी टेस्ट के लिए पेथोलॉजी टेस्ट रिक्यूजिशन फार्म (पीटीआरएफ) देना अनिवार्य होगा।

Himachal Health Alert: हिमाचल के अस्पतालों में टेस्ट करवाने के नए नियम! सरकार और क्रस्ना लैब के बीच विवाद के बाद लागू हुए नए नियम! जानिए क्या है बड़ा बदलाव

इस फार्म में चिकित्सक अपनी संख्या और साइन करके टेस्ट का चयन करेंगे। इससे टेस्ट की पारदर्शिता और गुणवत्ता में सुधार होगा।

यह नए नियम सरकार और क्रस्ना लैब के बीच चले विवाद के बाद लागू हुए हैं। क्रस्ना लैब प्रदेशभर के अस्पतालों में टेस्ट करने वाली एक प्राइवेट कंपनी है, जिसे सरकार ने ठेका दिया है।

Plot for sale
Plot for sale

लेकिन इस कंपनी ने पिछले सप्ताह टेस्ट करना बंद कर दिया था, क्योंकि सरकार ने इसे बकाया राशि नहीं दी थी।

Kidzee 02
Kidzee 02

दिन भर की ताजा खबरों के अपडेट के लिए WhatsApp प NewsGha Media के इस लिंक को क्लिक कर चैनल को फ़ॉलो करें।

इससे मरीजों को काफी परेशानी हुई थी। इसके बाद सरकार और कंपनी के बीच वार्ता हुई और टेस्ट फिर से शुरू हुए।

Republic Day 01
Republic Day 01

इन नए नियमों का उद्देश्य है कि मरीजों को जल्दी और सही टेस्ट की सुविधा मिल सके। इससे उनका इलाज भी अच्छे से हो सके। इसके लिए, स्वास्थ्य विभाग ने प्रदेश के सभी अस्पतालों में पीटीआरएफ की व्यवस्था कर दी है।

इसके अलावा, विभाग ने चिकित्सकों को भी आदेश दिए हैं कि वह इसी फार्म पर ही टेस्ट करवाने के लिए मरीजों को लैब में भेजे।

रक्त टेस्ट के लिए भी लागू होंगे नए नियम

इन नए नियमों के तहत, अब रक्त टेस्ट के लिए भी पीटीआरएफ देना होगा। पहले ऐसा नहीं होता था। चिकित्सक कई बार रक्त टेस्ट लिख देते थे, लेकिन क्रस्ना लैब में सभी रक्त टेस्ट किए जाते थे।

इससे आवश्यक टेस्ट की रिपोर्ट देर से मिलती थी। अब चिकित्सक केवल वही टेस्ट करवाएंगे, जिन पर वे टिक करेंगे। इससे टेस्ट का समय और लागत दोनों कम होगा।

इन नए नियमों का लाभ यह होगा कि मरीजों को अनावश्यक टेस्ट करवाने की जरूरत नहीं पड़ेगी। इससे उनका खर्च भी कम होगा।

दिन भर की ताजा खबरों के अपडेट के लिए WhatsApp प NewsGha Media के इस लिंक को क्लिक कर चैनल को फ़ॉलो करें।

Written by Newsghat Desk

Sirmour News: सिरमौर 3 अलग-अलग हादसों में एक की मौत 4 घायल! ट्राले ने भी 2 वाहनों को मारी टक्कर

Shocking News: हिमाचल में नरमुंड लेकर गांव में पहुंचा कुत्ता! सिरमौर में यहां नज़र आया खौफनाक मंजर! इलाके में सनसनी