in , ,

Himachal Health Alert: हिमाचल प्रदेश में हर तीसरा व्यक्ति ओबोसिटी की समस्या से ग्रस्त! एक अध्ययन में हुआ खुलासा

Himachal Health Alert: हिमाचल प्रदेश में हर तीसरा व्यक्ति ओबोसिटी की समस्या से ग्रस्त! एक अध्ययन में हुआ खुलासा

Himachal Health Alert: हिमाचल प्रदेश में हर तीसरा व्यक्ति ओबोसिटी की समस्या से ग्रस्त! एक अध्ययन में हुआ खुलासा
Himachal Health Alert: हिमाचल प्रदेश में हर तीसरा व्यक्ति ओबोसिटी की समस्या से ग्रस्त! एक अध्ययन में हुआ खुलासा

Himachal Health Alert: हिमाचल प्रदेश में हर तीसरा व्यक्ति ओबोसिटी की समस्या से ग्रस्त! एक अध्ययन में हुआ खुलासा

 

Admission notice

Himachal Health Alert: हिमाचल प्रदेश में हर तीसरे व्यक्ति का पेट बढ़ चुका है। यहां 56% लोग पेट के मोटापे से पीड़ित हैं। यह जानकारी आईसीएमआर इंडियाब नेशनल क्रॉस सेक्शनल स्टडी के अनुसार है।

Himachal Health Alert: हिमाचल प्रदेश में हर तीसरा व्यक्ति ओबोसिटी की समस्या से ग्रस्त! एक अध्ययन में हुआ खुलासा

JPREC-June
JPREC-June

Himachal Health Alert: अध्ययन ने यह भी खुलासा किया है कि हिमाचल प्रदेश के मुकाबले हरियाणा और पंजाब में पेट के मोटापे से अधिक पीड़ित लोग हैं। हरियाणा में 60.6% और पंजाब में 59.6% लोग इससे प्रभावित हैं, वहीं उत्तराखंड में 48% लोग इससे पीड़ित हैं।

अध्ययन में पेट के मोटापे को ‘एब्डोबिनल ओबिसिटी’ कहा गया है। यहां हिमाचल प्रदेश के विभिन्न इलाकों में 48.5% से 63.7% तक लोग इससे प्रभावित पाए गए हैं।

यदि हम सामान्य मोटापे की बात करें तो हिमाचल प्रदेश में 38.7%, हरियाणा में 39.6%, पंजाब में 43.8% और उत्तराखंड में 35.1% लोग इससे प्रभावित हैं।

Mehar Electrical
Mehar Electrical

इस अध्ययन को देश के 31 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में इस अध्ययन का आयोजन किया गया था। इसके लिए हर राज्य के शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों के लोगों का सम्मिलन किया गया।

हर राज्य के ग्रामीण क्षेत्रों से 2800 लोगों पर और शहरी क्षेत्रों से 1200 लोगों पर यह अध्ययन किया गया। हर राज्य से कुल मिलाकर 4,000 लोगों को इस अध्ययन में शामिल किया गया।

विश्लेषण: अधिक और असंतुलित आहार, निष्क्रियता का चर्बी में परिवर्तन

इस अध्ययन परियोजना में शामिल आईजीएमसी शिमला के मेडिसिन विभाग के प्रोफेसर डॉ. जितेंद्र कुमार मोक्टा ने बताया कि अतिरिक्त और असंतुलित भोजन, और शारीरिक काम न करने के कारण, कार्बोहाइड्रेट चर्बी में परिवर्तित हो जाता है।

देश दुनिया और वित्तीय जगत के ताजा समाचार जानने के लिए न्यूज़ घाट व्हाट्सएप समूह से जुड़े। नीचे दिए लिंक पर अभी क्लिक करें

यह चर्बी पेट में जमा हो जाती है। पेट की चर्बी सबसे खतरनाक होती है क्योंकि यह मेटाबॉलिक एक्टिव फैट होती है, जो विभिन्न प्रकार के रसायन उत्सर्जित करती है।

यह इंसुलिन की कार्यक्षमता को कम कर देता है, जिससे मधुमेह होने की संभावना बढ़ जाती है। यदि एक पुरुष की कमर 90 सेंटीमीटर और एक महिला की कमर 80 सेंटीमीटर से अधिक है, तो उसे पेट का मोटापा माना जाता है।

भारतीयों का वजन सामान्य हो सकता है, लेकिन पेट की स्थिति असामान्य होती है। हिमाचल प्रदेश की स्थिति भी इसी तरह है।

देश दुनिया और वित्तीय जगत के ताजा समाचार जानने के लिए न्यूज़ घाट व्हाट्सएप समूह से जुड़े। नीचे दिए लिंक पर अभी क्लिक करें

Written by newsghat

Paonta Sahib: एलईडी एलसीडी खराब? अब पांवटा साहिब में उच्च तकनीक द्वारा ठीक कराएं

Relationship Tips: आपकी और आपके पार्टनर के बीच की तकरार को मिटायेंगे आसान टिप्स, फॉलो करने पर झटपट हो जाएगी सुलह

Relationship Tips: आपकी और आपके पार्टनर के बीच की तकरार को मिटायेंगे आसान टिप्स! फॉलो करने पर झटपट हो जाएगी सुलह