in , , , ,

Himachal Health Alert: हिमाचल में अब दवाओं से सैंपल फेल हुए तो कंपनियों की खैर नहीं! कैसे चलेगा सरकार का डंडा देखें रिपोर्ट

Himachal Health Alert: हिमाचल में अब दवाओं से सैंपल फेल हुए तो कंपनियों की खैर नहीं! कैसे चलेगा सरकार का डंडा देखें रिपोर्ट

Himachal Health Alert: हिमाचल में अब दवाओं से सैंपल फेल हुए तो कंपनियों की खैर नहीं! कैसे चलेगा सरकार का डंडा देखें रिपोर्ट

 

Himachal Health Alert: हिमाचल प्रदेश में दवाओं की गुणवत्ता पर सवाल उठने लगे हैं। केंद्रीय दवा नियंत्रण संगठन (CDSCO) के दिसंबर के ड्रग अलर्ट में प्रदेश में बनीं 40 दवाओं के सैंपल फेल पाए गए हैं। ये सैंपल 25 दवा फार्मा के हैं।

Himachal Health Alert: हिमाचल में अब दवाओं से सैंपल फेल हुए तो कंपनियों की खैर नहीं! कैसे चलेगा सरकार का डंडा देखें रिपोर्ट

हिमाचल में 40 दवाओं के सैंपल फेल, देशभर में सबसे ज्यादा
बार-बार सैंपल फेल होने पर कंपनियों का लाइसेंस रद्द
दवाओं की खरीद के लिए अब स्पेशल बोर्ड ऑफ ऑफिसर की स्वीकृति
स्वास्थ्य विभाग में 2,000 पद भरे जाएंगे
डॉक्टरों का एनपीए रोका गया

इसमें उच्च रक्तचाप, मिर्गी, संक्रमण, एपिलेप्सी, विटामिन, दर्द व सूजन, बवासीर, बुखार, खांसी, कब्ज, अवसाद, शुगर, फंगस, पेट के कीड़े, टीबी और इंसुलिन की दवाएं शामिल हैं।

स्वास्थ्य मंत्री धनीराम शांडिल ने कहा कि बार-बार दवाओं के सैंपल फेल होने से हिमाचल की विश्वसनीयता पर सवाल खड़े हो रहे हैं।

Plot for sale
Plot for sale

दिन भर की ताजा खबरों के अपडेट के लिए WhatsApp प NewsGha Media के इस लिंक को क्लिक कर चैनल को फ़ॉलो करें।

Kidzee 02
Kidzee 02

उन्होंने कहा कि सरकार इस मामले को गंभीरता से ले रही है और सैंपल फेल होने वाली कंपनियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

शांडिल ने बताया कि बार-बार सैंपल फेल होने वाली कंपनियों को लाइसेंस रद्द किए जाएंगे। वहीं, इन्हें दवाओं का उत्पाद न किए जाने को लेकर नोटिस जारी किए गए हैं।

Republic Day 01
Republic Day 01

उन्होंने कहा कि हिमाचल में इन दवाओं की सप्लाई नहीं हुआ है। खाद्य आपूर्ति निगम ने इन दवाओं को नहीं खरीदा है।

दवाओं की खरीद के लिए अब स्पेशल बोर्ड ऑफ ऑफिसर की स्वीकृति अनिवार्य है। ये ऑफिसर मानक देखकर ही दवाओं की खरीद करेंगे। बाजार से स्टाॅक वापस मंगाने को कहा गया है।

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि स्वास्थ्य विभाग में दो हजार पदों को भरा जाएगा। इसमें 200 डाॅक्टर, 1,450 पद नर्सों और अन्य पद शामिल है। उन्होंने कहा कि डाॅक्टरों की डीपीसी किए जाने की प्रक्रिया जारी है। डॉक्टरों को पदोन्नति दी जानी है।

डाॅक्टरों के अस्पताल में काले बिल्ले लगाए जाने के मामले में मंत्री ने कहा कि इनका एनपीए बंद नहीं बल्कि रोका गया है।

डॉक्टर एसोसिएशन को मुख्यमंत्री सुखविंद्र सिंह सुक्खू से मिलाया गया। उन्हें स्पष्ट किया गया है कि हिमाचल में प्राकृतिक आपदा के चलते एनपीए रोका गया है। इसे बहाल करने का मामला कैबिनेट में लाया जा रहा है।

दिन भर की ताजा खबरों के अपडेट के लिए WhatsApp प NewsGha Media के इस लिंक को क्लिक कर चैनल को फ़ॉलो करें।

Written by Newsghat Desk

Himachal Govt News: हिमाचल में वाहनों की पासिंग को लेकर बदले नियम! क्या बड़ा बदलाव देखें पूरी रिपोर्ट

Paonta Sahib: द स्कॉलर्स होम स्कूल में 75वें गणतंत्र दिवस समारोह पर सांस्कृतिक कार्यक्रमों की धूम! ये रहे खास कार्यक्रम