in ,

Himachal Pradesh Tourism: सुक्खू सरकार ला रही नई होम स्टे पॉलिसी! प्रदेश में ऐसे मिलेगी पर्यटन को गति, जानें इसमें और क्या है खास

Himachal Pradesh Tourism: सुक्खू सरकार ला रही नई होम स्टे पॉलिसी! प्रदेश में ऐसे मिलेगी पर्यटन को गति, जानें इसमें और क्या है खास

Himachal Pradesh Tourism: सुक्खू सरकार ला रही नई होम स्टे पॉलिसी! प्रदेश में ऐसे मिलेगी पर्यटन को गति, जानें इसमें और क्या है खास
Himachal Pradesh Tourism: सुक्खू सरकार ला रही नई होम स्टे पॉलिसी! प्रदेश में ऐसे मिलेगी पर्यटन को गति, जानें इसमें और क्या है खास

Himachal Pradesh Tourism: सुक्खू सरकार ला रही नई होम स्टे पॉलिसी! प्रदेश में ऐसे मिलेगी पर्यटन को गति, जानें इसमें और क्या है खास

 

Admission notice

Himachal Pradesh Tourism: हिमाचल प्रदेश के लोग जो लंबे समय तक यहां ठहरना चाहते हैं, वे आमतौर पर होम स्टे का विकल्प चुनते हैं।

Himachal Pradesh Tourism: सुक्खू सरकार ला रही नई होम स्टे पॉलिसी! प्रदेश में ऐसे मिलेगी पर्यटन को गति, जानें इसमें और क्या है खास

JPREC-June
JPREC-June

Himachal Pradesh Tourism: मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुखु की सरकार ने होम स्टे के कमरों की संख्या को 4 से बढ़ाकर 6 कर दिया है। अब, राजस्व बढ़ाने के लिए, उन्होंने होम स्टे पर सेस लगाने की योजना की।

सुखु सरकार शीघ्र ही नई होम स्टे नीति पेश करने की योजना बना रही है। इसमें, राज्य में 3500 से अधिक होम स्टे के नियमों को बदलकर उन्हें पर्यटन के लिए अधिक आकर्षक बनाने का विचार किया जा रहा है।

ग्रामीण क्षेत्रों में स्थित होम स्टे पर्यटकों में लोकप्रिय हैं। इन्हें संचालित करने वाले व्यक्तियों से सरकार अब तक कोई शुल्क नहीं वसूलती थी। होम स्टे के लिए पंजीकरण और नवीनीकरण शुल्क मात्र 100 और 50 रुपये हैं।

Mehar Electrical
Mehar Electrical

हिमाचल प्रदेश में होम स्टे नीति 2008 में आई थी। सुखु सरकार ने इस नीति को और अधिक प्रभावशाली और आकर्षक बनाने का विचार किया है।

उन्होंने यह तय किया है कि होम स्टे के कमरों की संख्या 4 से बढ़ाकर 6 की जाएगी। इसके अलावा, सरकार ने राजस्व बढ़ाने के उद्देश्य से होम स्टे पर सेस लगाने की योजना बनाई है।

सुखु सरकार जल्द ही नई होम स्टे नीति पेश करने की तैयारी में है। इसमें, राज्य में 3500 से अधिक होम स्टे के संचालन नियमों में संशोधन करने का विचार है। इन्हें अधिक पर्यटन अनुकूल बनाने की कोशिश की जाएगी।

देश दुनिया और वित्तीय जगत के ताजा समाचार जानने के लिए न्यूज़ घाट व्हाट्सएप समूह से जुड़े। नीचे दिए लिंक पर अभी क्लिक करें

पर्यटकों में ग्रामीण क्षेत्रों में स्थित होम स्टे का खूब चर्चा है। यहां पर्यटक लंबे समय तक ठहर सकते हैं।

होम स्टे संचालन करने वालों से सरकार कोई शुल्क नहीं लेती है। हालांकि, होम स्टे पंजीकरण और नवीकरण के लिए मात्र 100 और 50 रुपये का शुल्क है।

सुखु सरकार की नई होम स्टे नीति के बारे में विचारणा अब तक दो बैठकों में हो चुकी है। मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुखु ने पहले ही बजट में घोषणा की थी कि होम स्टे के तहत कमरों की संख्या चार से बढ़ाकर छह की जाएगी।

यह नई होम स्टे नीति अधिक सुगम और संचालन करने वाले के लिए लाभदायक बनाने के लिए तैयार की जा रही है। इसमें कुछ नए योजनाएं भी शामिल की जा सकती हैं जो होम स्टे संचालन करने वालों के लिए अतिरिक्त लाभ प्रदान करेंगी।

देश दुनिया और वित्तीय जगत के ताजा समाचार जानने के लिए न्यूज़ घाट व्हाट्सएप समूह से जुड़े। नीचे दिए लिंक पर अभी क्लिक करें

Written by newsghat

Sirmour News: हिमाचल का सर्वश्रेष्ठ केंद्र बना कृषि विज्ञान केंद्र सिरमौर धौलाकुंआ

CM Sukhvinder Singh Sukhu: आउटसोर्स ओटीए मानदेय के लेकर सीएम सुक्खू ने किया बड़ा ऐलान! जानें कितना बढ़ेगा मानदेय

CM Sukhvinder Singh Sukhu: आउटसोर्स ओटीए मानदेय के लेकर सीएम सुक्खू ने किया बड़ा ऐलान! जानें कितना बढ़ेगा मानदेय