in

Insurance : प्रीमियम बढ़ने के डर से न करें जल्दबाजी

Insurance : प्रीमियम बढ़ने के डर से न करें जल्दबाजी

Insurance खरीदने से पहले इन बातें का रखें ध्यान…

कोरोना महामारी के कारण बीमा कंपनियां लगातार टर्म इंश्योरेंस की प्रीमियम की राशि में इजाफा कर रही है। आगे भी अनुमान लगाया जा रहा है कि इन कीमतो में और ज्यादा वृद्धि हो सकती है। लेकिन आपको ऐसी स्थिति देखकर जल्दबाजी में प्रीमियम नहीं लेना चाहिए। आप अपने आर्थिक जरूरतों को देखते हुए और महंगाई की दरों को ध्यान में रखते हुए ही टर्म इंश्योरेंस पॉलिसी ले।

बैंक बाजार के CEO आदिल शेट्टी कहते हैं कि टर्म इंश्योरेंस का महत्व तब और ज्यादा बढ़ जाता है, जब बीमा धारक की समय से पहले ही मृत्यु हो जाती है और उसकी अन्य देनदारिया और ऋण का बोझ परिवार पर अचानक आ पड़ता है। ऐसे आर्थिक बोझ से बचाव के लिए बीमा पॉलिसी लेते समय अपनी देनदारी, बच्चों की शिक्षा पर खर्च, कमाई के स्रोत, पत्नी की आय और परिवार की स्वास्थ्य संबंधी आवश्यकता का ध्यान रखना चाहिए।

ध्यान रहे आपको बीमा हमेशा अपनी जरुरतों के अनुसार ही लेना चाहिए जिसमें कवर आपकी वार्षिक आय के 10 से 20 गुना हो।

जरुरत के अनुसार बढ़ाए कवर

Holi-2
Holi-2

बताया जाता है कि यदि आपके पास पहले से ही कोई टर्म बीमा पॉलिसी है तो इसमें परिवार की जरुरतों के हिसाब से कवर बड़ा सकते हैं। इसमें एक्सीडेंट डेथ बेनिफिट या मंथली इनकम जैसे एड-ऑन भी मिलते हैं। आपको अपना ज्यादा फोकस बेसिक कवर पर होना चाहिए, यदि आपके जीवन में कोई जोखिम हेै तो उससे संबंधित एड-ऑन ले सकते हैं।

उत्पादों की तुलना करें और सेटलमेंट रेश्यो अवश्य देखें

बीमा क्षेत्र के एक्सपर्ट्स का कहना है कि बीमा कंपनी के टर्म बीमा प्लान अलग-अलग होते हैं। इसलिए आपको विभिन्न कंपनियों के उत्पादों की तुलना करने के बाद ही अच्छा बीमा टर्म प्लान खरीदे।

बीमा कंपनियों से प्लान लेते समय बीमा कवरेज, मैच्योरिटी की उम्र और दावा निपटान का रिकॉर्ड आदि जैसे विभिन्न मानको पर तुलना करनी चाहिए। साथ ही, कंपनी का सेटलमेंट रेश्यो भी देखना ना भूलें।

हाल ही में, 2020-21 के लिए बीमा रेगुलेटर इरडा (IRDAI) बीमा कंपनियों का सेटलमेंट रेश्यो का डाटा जारी किया है।

इन गलतियों से बचे

1. अधूरी जानकारी: पॉलिसी लेते समय अपनी पूरी मेडिकल हिस्ट्री के बारे में बताएं ऐसा नहीं करने पर क्लेम के समय क्लेम लेने में दिक्कत आ सकती है।

2. कम अवधि वाला प्लान: कम अवधि वाला प्लान लेने से बचे।

3. जल्दी पॉलिसी ना खरीदना: यह तो आपको पता ही होगा कि कम उम्र में पॉलिसी खरीदते हैं तो प्रीमियम कम चुकाना होता है वही ज्यादा उम्र में पॉलिसी खरीदेंगे तो प्रीमियम की राशि भी ज्यादा चुकानी पड़ेगी।

केवल प्रीमियम को ही मानक न बनाएं

निवेश एवं बीमा सलाहकार स्वीटी मनोज जैन का कहना है कि वर्तमान हालात के लिए टर्म बीमा बुनियादी जरुरत बन गया है। सस्ती पॉलिसी में अहम राइडर्स शामिल नहीं होने के कारण इसका खामियाजा आपके बाद आपके परिवार को भुगतना पड़ सकता है इसलिए सिर्फ प्रीमियम को ही मानक ना बनाएं।

दोस्तों, देश- विदेश और दुनिया की खबरों को तेजी से जानने के लिए बने रहे आपके अपने न्यूज़ घाट के साथ।

हमें फेसबुक पर फॉलो करने के लिए @newsghat पर और व्हाट्सएप ग्रुप में ज्वाइन होने के लिए @newsghat पर क्लिक करें।

Written by Newsghat Desk

Crypto Currency Investment पर सोच रहे हैं ? बजट 2022 आने दें…

वाह ! सस्ता मिल रहा है 12GB RAM वाला OnePlus का धांसू 5G स्मार्टफोन