in

Life Insurance : Insurance लेने को लेकर हो कंफ्यूज, तो यहां मिलेंगे जवाब

Life Insurance : Insurance लेने को लेकर हो कंफ्यूज, तो यहां मिलेंगे जवाब

Life Insurance के लेकर अब नहीं रहेगा कोई कन्फ्यूज़न, जाने इस मुश्किल सवालों के जवाब

भारत में जीवन बीमा शुरू से ही लोकप्रिय रहा है। कोई और चीज हो ना हो लेकिन जीवन बीमा होना आवश्यक माना जाता है।

कुछ वर्षों पहले तक LIC (लाइफ इंश्योरेंस ऑफ इंडिया) देश के विभिन्न जगहो में जीवन बीमा उपलब्ध करवाती थी। लेकिन आजकल बाजार में कई तरह की कंपनियां आ चुकी है और विभिन्न तरह की विकल्प सामने देती है। लेकिन इसको लेकर अधिकांश लोग उलझन में रहते है कि कौन-सा बीमा ले और कितने कवर वाला ले ?

BKD School
BKD School

यदि यही सवाल आपके भी दिमाग में उठ रहा है तो यह बहुत सामान्य है क्योंकि यह सवाल बीमा लेने वाले लगभग अधिकांश लोगों की मन में उठता है तो आइए हम उन महत्वपूर्ण बिंदुओं पर चर्चा करें जिनके आधार पर आप एक बेहतर विकल्प चुन सकते हैं।

जीवन का लक्ष्य

किसी भी व्यक्ति और उसके परिवार के जीवन के लिए एक उचित वित्तीय सहायता की आवश्यकता होती है। किसी भी व्यक्ति की लिए 30 वर्ष की आयु जीवन बीमा पाने के लिए ठीक मानी जाती है। क्योंकि इसके बाद व्यक्ति को अपने परिवार और अपने केरियर पर ध्यान देने की जरुरत पड़ती है।

इसलिए, आपको अपने परिवार के उद्देश्यों को केंद्र में रखते हुए एक उचित जीवन बीमा लेने के बारे में सोचना चाहिए। ताकि किसी भी अप्रिय घटना के घटित होने पर आपके परिवार के लक्ष्य धुंधले ना हो।

इस प्रकार की आर्थिक सुरक्षा की स्थिति प्लान करें जिससे कि आप के बाद भी आप के परिवार पर कोई आर्थिक संकट ना आए और वे अपने लक्ष्य पर पहुंच सके।

आपको पहले यह सुनिश्चित करना होगा कि आप के परिवार के कौन से लक्ष्यों के लिए कितने पैसों की आवश्यकता पड़ने वाली है। यही आपके जीवन बीमा चयन करने का पहला आधार होना चाहिए।

वर्तमान की देनदारियां

विशेषज्ञों का कहना है कि आपको अपनी वर्तमान देनदारियो की एक लिस्ट बनानी चाहिए और फिर देखना चाहिए कि कितने पैसों की आवश्यकता पड़ती है। उसके बाद आपको टर्म लाइफ इंश्योरेंस प्लान के बारे में सोचना चाहिए।

उम्र के अनुसार से प्रीमियम पर पड़ता है फर्क

कम उम्र में करवाए गए बीमा के लिए कम प्रीमियम चुकाना पड़ता है और ज्यादा कवरेज मिलता है वही यदि ज्यादा उम्र में बीमा करवाया जाता है तो प्रीमियम भी ज्यादा चुकानी पड़ती है और कवरेज भी कम मिलता है।

कितने साल काम करना है ?

आपको यह पता होना चाहिए कि आप कब रिटायर होने वाले हैं और रिटायर से पहले आपको अपनी सभी देनदारियां उतारनी है। ध्यान रहे, कि आप जो प्रीमियम चुकाने वाले हैं वह आपकी देनदारियो को डिस्टर्ब ना करें।

 

दोस्तों, देश- विदेश और दुनिया की खबरों को तेजी से जानने के लिए बने रहे आपके अपने न्यूज़ घाट के साथ।

हमें फेसबुक पर फॉलो करने के लिए @newsghat पर और व्हाट्सएप ग्रुप में ज्वाइन होने के लिए @newsghat पर क्लिक करें।

Written by Newsghat Desk

तबादले : हिमाचल में 30 एचएएस अधिकारी इधर से उधर

द स्कॉलर्स होम में निदेशक एनपीएस नारंग