in ,

Loan Recovery Rules: Home Loan Car Loan और Personal Loan की रिकवरी में लिए इस खास परिस्थिति में क्या है नियम! ये नियम जान लेंगे तो नहीं होना पड़ेगा परेशान

Loan Recovery Rules: Home Loan Car Loan और Personal Loan की रिकवरी में लिए इस खास परिस्थिति में क्या है नियम! ये नियम जान लेंगे तो नहीं होना पड़ेगा परेशान

Loan Recovery Rules: Home Loan Car Loan और Personal Loan की रिकवरी में लिए इस खास परिस्थिति में क्या है नियम! ये नियम जान लेंगे तो नहीं होना पड़ेगा परेशान
Loan Recovery Rules: Home Loan Car Loan और Personal Loan की रिकवरी में लिए इस खास परिस्थिति में क्या है नियम! ये नियम जान लेंगे तो नहीं होना पड़ेगा परेशान

Loan Recovery Rules: Home Loan Car Loan और Personal Loan की रिकवरी में लिए इस खास परिस्थिति में क्या है नियम! ये नियम जान लेंगे तो नहीं होना पड़ेगा परेशान

Loan Recovery Rules: लोन एक ऐसा वित्तीय उपकरण है जिसे लोग अपनी विभिन्न आवश्यकताओं, जैसे कि घर खरीदने, कार खरीदने, व्यापार शुरू करने या अन्य व्यक्तिगत जरूरतों को पूरा करने के लिए लेते हैं।

लोन का भुगतान निश्चित समयावधि में ब्याज के साथ किया जाता है, जो आमतौर पर ईएमआई (एक्वालेंट मासिक किश्त) के रूप में किया जाता है।

Loan Recovery Rules: Home Loan Car Loan और Personal Loan की रिकवरी में लिए इस खास परिस्थिति में क्या है नियम! ये नियम जान लेंगे तो नहीं होना पड़ेगा परेशान

लेकिन, एक व्यक्ति की जब लोन की बकाया राशि चुकाने से पहले ही मृत्यु हो जाती है, तो यह समस्या पैदा होती है कि बैंक अब बकाया राशि किससे वसूलेगी?

Plot for sale
Plot for sale

इस प्रक्रिया का निर्धारण वास्तव में लिए गए लोन के प्रकार पर निर्भर करता है – कि क्या यह पर्सनल लोन था, होम लोन, या कार लोन…

होम लोन और कार लोन की स्थिति

Kidzee 02
Kidzee 02

देश दुनिया और वित्तीय जगत के ताजा समाचार जानने के लिए न्यूज़ घाट व्हाट्सएप समूह से जुड़े। नीचे दिए लिंक पर अभी क्लिक करें

यदि किसी ने होम लोन लिया और उसे चुकाने से पहले उसकी मृत्यु हो जाती है, तो बैंक बकाया लोन उसके उत्तराधिकारियों से वसूलता है।

Republic Day 01
Republic Day 01

यदि उत्तराधिकारी भी लोन चुकाने में असमर्थ होते हैं, तो बैंक लोन लेते समय गिरवी रखी गई संपत्ति को बेचकर बकाया राशि का पूरा करता है।

एक कार लोन के मामले में, बैंक पहले उत्तराधिकारी से संपर्क करता है। यदि वे भी लोन चुकाने में असमर्थ होते हैं, तो बैंक कार को जब्त करके बेच देता है, और उससे बकाया राशि का पूरा करता है।

पर्सनल लोन की स्थिति

पर्सनल लोन के मामले में, बैंक के पास कोई कॉलेटरल सुरक्षा नहीं होती। इसका मतलब है कि यदि लोन लेने वाला व्यक्ति मर जाता है, तो बैंक उसके परिवार से बकाया राशि नहीं वसूल सकता। ऐसी स्थिति में, बैंक आमतौर पर लोन को “नॉन-परफॉर्मिंग असेट” के रूप में घोषित कर देता है.

तो, संक्षेप में, यदि एक लोन लेने वाले की मृत्यु हो जाती है, तो बैंक की प्रक्रिया लोन के प्रकार पर निर्भर करेगी।

इसलिए, एक बैंक के ग्राहक के रूप में, यह हमेशा एक अच्छा विचार है कि अपने लोन की स्थिति को स्पष्ट रूप से समझें और यदि संभव हो, तो आपके लोन की रक्षा के लिए बीमा पॉलिसी लें।

ऐसा करने से, आपके परिवार को किसी अनपेक्षित परिस्थिति में आपके लोन के बकाया भुगतान का बोझ नहीं उठाना पड़ेगा।

देश दुनिया और वित्तीय जगत के ताजा समाचार जानने के लिए न्यूज़ घाट व्हाट्सएप समूह से जुड़े। नीचे दिए लिंक पर अभी क्लिक करें

Written by newsghat

Instant Personal Loan: अचानक पड़ गई है पैसे की जरूरत तो ये लोन करें अप्लाई! बैंक के अधिकारी भी नहीं कर पाएंगे इन्कार! पढ़ें कौन ले सकता है ये लोन और ब्याज़ काफी कम

Instant Personal Loan: अचानक पड़ गई है पैसे की जरूरत तो ये लोन करें अप्लाई! बैंक के अधिकारी भी नहीं कर पाएंगे इन्कार! पढ़ें कौन ले सकता है ये लोन और ब्याज़ काफी कम

Loan Without Documents: यहां करेंगे लोन अप्लाई तो नहीं पड़ेगी डॉक्यूमेंट्स की जरूरत! आधार कार्ड दिखाकर मिल जाएगा लोन

Loan Without Documents: यहां करेंगे लोन अप्लाई तो नहीं पड़ेगी डॉक्यूमेंट्स की जरूरत! आधार कार्ड दिखाकर मिल जाएगा लोन