in

Neurological Diseases: क्या है नसों संबंधित रोग जो पहले दिखते है आम और एक बार हो जाने पर सालों नहीं छोड़ते पीछा

Neurological Diseases: क्या है नसों संबंधित रोग जो पहले दिखते है आम और एक बार हो जाने पर सालों नहीं छोड़ते पीछा

Neurological Diseases: क्या है नसों संबंधित रोग जो पहले दिखते है आम और एक बार हो जाने पर सालों नहीं छोड़ते पीछा

 

Admission notice

Neurological Diseases : नसों में होने वाली बीमारियां पहले पहले तो एक आम बीमारी के रूप में आपके सामने आती है लेकिन समय के साथ-साथ यह अपना विराट रूप लेने लगती हैं और जीते जी तक आपका पीछा नहीं छोड़ती हैं।

JPREC-June
JPREC-June

Neurological Diseases: क्या है नसों संबंधित रोग जो पहले दिखते है आम और एक बार हो जाने पर सालों नहीं छोड़ते पीछा

आइए, जानते हैं इन बीमारियों के बारे में विस्तार में…

Neurological diseases:

Mehar Electrical
Mehar Electrical

आज हम आपको नसों से जुड़ी कुछ ऐसी बीमारियों के बारे में बताएंगे जो कि गंभीर रूप लेकर आपको परेशान कर सकती है। क्यों और कैसे, जानते हैं।

1. क्लस्टर हेडेक -Cluster Headaches

क्लस्टर हेडेक को आम भाषा में अधकपारी कहते हैं अक्सर आपके आधे सिर में दर्द होता है खास करके आंखों के आसपास से आज से चेहरे तक। क्लस्टर हेडेक सिर के किसी खास कोने में या किसी खास समय पर होता है।

कहा जाता है ऐसे दर्द होने के पीछे एक्सरसाइज और सामने से सीधी लाइट आंखों पर पढ़ना और खराब लाइफस्टाइल हो सकता है जोकि धमनियों के पहले और सूजन आने की वजह से होता है।

2. पार्किंसंस रोग-Parkinson’s Disease

मस्तिष्क संबंधी बीमारी को पार्किंसंस रोग कहते हैं इसकी वजह से आपके शरीर में कंपन और कठोरता आती है, जिससे शरीर में संतुलन और समन्वय की कमी आती है।

शुरुआती लक्षण इसमें धीमे और सामान्य दिखाई देते हैं लेकिन समय के साथ-साथ यह हालातों को और बिगाड़ देता है।

जैसे हाथों में कंपन और शरीर की चाल का धीमा पढ़ते जाना जैसे-जैसे यह रोग बढ़ता है लोगों में चलने और बात करने में कठिनाई पैदा होने लगती है।

3. मेनिनजाइटिस-Meningitis

मेनिनजाइटिस नसों की एक ऐसी बीमारी को कहा जाता है जिसमें कि मेनिन्जेस में सूजन आ जाती है, मेनिनजाइटिसअसल मस्तिष्क के अंदर मिलने वाली एक झिल्लियां हैं जो मस्तिष्क और रीढ़ की हड्डी को घेरे रहती हैं। इसमें सूजन आमतौर पर मस्तिष्क और रीढ़ की हड्डी के आसपास के तरल पदार्थ के संक्रमण की वजह से उत्पन्न होती है।

4. मिर्गी-Epilepsy

निधि मस्तिष्क से जुड़ी हुई न्यूरोलॉजिकल स्थिति है जिसमें व्यक्ति को दौरे पड़ने लगते हैं उसकी कई कारण हो सकते हैं, जैसे जो मस्तिष्क में तंत्रिका कोशिकाओं के बीच सामान्य कनेक्शन को बाधित करता है, दौरे का कारण बन सकता है।

इसमें तेज बुखार, बीपी की दिक्कत, शराब या नशीली दवाओं के कारण या फिर ब्रेन स्ट्रोक की वजह से भी हो सकता है।

5. अल्जाइमर रोग-Alzheimer’s Disease

अल्जाइमर रोग ब्रेन सेल्स में आने वाले बदलावों की कारण होता है क्योंकि इसमें फाइबर तंत्रिका कोशिकाओं के भीतर उन्नत जाता है इसके अलावा इन बीमारी की एक वजह ये भी है कि इसमें एसिट्लोक्लिन, नोरेपीनेफ्राइन, सेरोटोनिन और सोमैटोस्टैटिन जैसी गतिविधियां प्रभावित हो जाती हैं।

(यह लेख सामान्य जानकारी के लिए है, किसी भी उपाय को अपनाने से पहले डॉक्टर से परामर्श अवश्य लें। न्यूज़ घाट इस बात की सत्यता की कतई पुष्टि नहीं करता है।

देश दुनिया और वित्तीय जगत के ताजा समाचार जानने के लिए न्यूज़ घाट व्हाट्सएप समूह से जुड़े। नीचे दिए लिंक पर अभी क्लिक करें

Written by Newsghat Desk

Paonta Sahib: द स्कॉलर्स होम स्कूल के प्रांगण में ‘सुखमनी साहिब’ के पाठ का आयोजन

पांवटा साहिब में आयोजित होगी स्टेट लेवल बास्केटबॉल प्रतियोगिता, गुरु नानक मिशन पब्लिक स्कूल करेगा मेजबानी