in

Paonta Sahib: किशन संगीत अकादमी ने आयोजित किया पहला शास्त्रीय संगीत कार्यक्रम, कलाकारों ने बांधा समां

Paonta Sahib: किशन संगीत अकादमी ने आयोजित किया पहला शास्त्रीय संगीत कार्यक्रम, कलाकारों ने बांधा समां

Paonta Sahib: किशन संगीत अकादमी ने आयोजित किया पहला शास्त्रीय संगीत कार्यक्रम, कलाकारों ने बांधा समां

 

Admission notice

Paonta Sahib: पांवटा साहिब स्थित किशन संगीत अकादमी ने ज्ञान चंद गोयल धर्मशाला, तारूवाला में पहला शास्त्रीय संगीत कार्यक्रम आयोजित किया।

JPREC-June
JPREC-June

इस कार्यक्रम में प्रधानाचार्य दून वैली स्कूल की शिवानी पांडे, डॉ. मदन झालटा और जसमत कोहली, जाने माने व्यवसाई डीएस ठाकुर मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित थे।

कार्यक्रम का उद्घाटन दीप प्रज्वलन से हुआ, उसके बाद अकादमी के संचालक रामकिशन चौहान ने स्वागत भाषण दिया। कार्यक्रम में शास्त्रीय संगीत की विभिन्न विधाओं की प्रस्तुतियां दी गईं।

छोटी बच्ची आर्य किशन ने राग खमाज के बोल ‘उपवन उपवन उड़े चिड़ैया…’ से कार्यक्रम का शुभारंभ किया। दिव्यांशी चौधरी ने राग भैरव के बोल ‘जागो मोहन.. प्यारे’ से श्रोताओं के मन को भिवो लिया।

Mehar Electrical
Mehar Electrical

अकादमी के अन्य कलाकारों ने भी अपनी विभिन्न रागों की प्रस्तुतियाँ दी। इनमें मन्नत चौधरी, प्रदीप चौहान, जयपाल, वंशिका, आरती, अमरजीत कौर, अंजली, पांडे, अमन शर्मा, सुनील चौहान, जेपी ठाकुर, योगी चीमा आदि शामिल थे।

शास्त्रीय संगीत के विभिन्न विधाओं के माध्यम से उन्होंने उपस्थित श्रोताओं का मनोरंजन किया। मुख्य अतिथि शिवानी पांडे ने संगीत की महत्वकांक्षी प्रकृति की तारीफ की और बताया कि ज्ञान का समंदर कितना भी निकलो, यह हमेशा अपार रहेगा।

देश दुनिया और वित्तीय जगत के ताजा समाचार जानने के लिए न्यूज़ घाट व्हाट्सएप समूह से जुड़े। नीचे दिए लिंक पर अभी क्लिक करें

विशिष्ट अतिथि डॉ. मदन झालटा ने भी उपस्थित श्रोताओं को अपने राग और सुर तानों से मनोरंजित किया। जोशी जी, मंच संचालन करते हुए, ने यह बताया कि किशन संगीत अकादमी पिछले 15 वर्षों से शास्त्रीय संगीत की विधाओं का ज्ञान शिष्यों को दे रही है और यह उनका पहला कार्यक्रम है।

समापन समारोह में, मुख्य अतिथि डीएस ठाकुर और विशिष्ट अतिथि सतीश ठाकुर ने प्रस्तुतियां देने वाले सभी छात्र-छात्राओं को पुरस्कार वितरण किए।

उन्होंने अपने भाषण में उल्लेख किया कि संगीत सीखने के लिए समय जरूर लगता है, परंतु एक बार जब यह इंसान के अंतरात्मा में समाहित हो जाता है, तो यह क्रोध, आलस्य और अन्य नकरात्मक भावनाओं को दूर करने में सहायता करता है।

कार्यक्रम के इस अवसर पर, प्रमुख अतिथिगण प्रधानाचार्य दून वैली स्कूल शिवानी पांडे, डी एस ठाकुर, विशिष्ट अतिथि डॉ मदन झालटा , जसमत कोहली , सतीश ठाकुर ,ओ.पी राही, आयोजक रामकिशन चौहान, महिमा किशन, विक्की चौहान, मनीष कुमार, अशोक कुमार, गुरजीत सिंह, शीतल, सोनाली, वंशिका, रजनी, भारती, पूजा, अमन शर्मा, मन्नत चौधरी आदि उपस्थित थे। सभी ने इस कार्यक्रम की सफलता के लिए अपने योगदान दिए।

देश दुनिया और वित्तीय जगत के ताजा समाचार जानने के लिए न्यूज़ घाट व्हाट्सएप समूह से जुड़े। नीचे दिए लिंक पर अभी क्लिक करें

Written by Newsghat Desk

नए आबकारी नियम: हिमाचल में शराब परोसने के लिए लाइसेंस के नियम बदले! अब अलग-अलग क्षेत्रों के लिए अलग-अलग लाइसेंस फीस

नए आबकारी नियम: हिमाचल में शराब परोसने के लिए लाइसेंस के नियम बदले! अब अलग-अलग क्षेत्रों के लिए अलग-अलग लाइसेंस फीस

सीएम सुक्खू का बड़ा ऐलान: हिमाचल प्रदेश बिजली बोर्ड कर्मचारियों के लिए खुशखबरी! ऐसे खुली OPS वापसी की राह

सीएम सुक्खू का बड़ा ऐलान: हिमाचल प्रदेश बिजली बोर्ड कर्मचारियों के लिए खुशखबरी! ऐसे खुली OPS वापसी की राह