in

Relationship Tips: रिलेशनशिप में रहने के बाद भी क्यों होता है अकेलेपन का अहसास ? अगर ये जान लेंगे तो नहीं रहेंगे अकेले

Relationship Tips: रिलेशनशिप में रहने के बाद भी क्यों होता है अकेलेपन का अहसास ? अगर ये जान लेंगे तो नहीं रहेंगे अकेले
Relationship Tips: रिलेशनशिप में रहने के बाद भी क्यों होता है अकेलेपन का अहसास ? अगर ये जान लेंगे तो नहीं रहेंगे अकेले

Relationship Tips: रिलेशनशिप में रहने के बाद भी क्यों होता है अकेलेपन का अहसास ? अगर ये जान लेंगे तो नहीं रहेंगे अकेले

आज के समय में कोई अकेले रहना चाहता है, और हम आज के भागमभाग जिंदगी में अक्सर जिंदगी के अकेलेपन को दूर करने के लिए किसी पार्टनर की तलाश करते हैं, आजकल कई बार रिलेशनशिप में रहने के बावजूद जिंदगी में खालीपन नजर आने लगता है, अकेला महसूस करते है, और आप पार्टनर के साथ रहकर भी साथ नहीं हो पाते है।

ऐसे में आपके रिश्ते में दरार आनी लाजमी है और फिर एक दिन सबकुछ खत्म हो सकता है, ऐसे भी लोग है जो इसकी वजह से तनाव का शिकार हो जाते हैं, या कपल की बीच बात बात पर झगड़ा और नोंक झोंक बढ़ जाती है। तो आइए ये जानने कि कोशिश करते हैं कि पार्टनर के पास रहने के बावजूद भी क्यों अकेलापन महसूस होता है ?

ज्यादा उम्मीद करना

प्यार उम्मीद में टिका होता है, पर आज के समय में आप जिस इंसान से प्यार करते हैं उसे अपनी ख्वाहिश, पसंदद-नापसंद जरूर शेयर करें, पर समय रहते आप सीख जाए कि जरूरत से ज्यादा उम्मीद न पालें क्योंकि यह एक दुख की वजह बन सकता है।

Holi-2
Holi-2

आप यह तय कर ले कि आपको अपने पार्टनर से कितनी एक्सपेक्टेशन रखनी है, और इस बात को समझें कि वह भी एक इंसान है, कोई खुदा नहीं, तथा वह आपकी हर ख्वाहिश को पूरा नहीं कर सकता।

इमोशनल बॉन्डिंग की कमी

आज के समय में बिना इमोशनल बॉन्डिंग के कोई भी रिश्ता लंबा नहीं टिक सकता, क्योंकि जहां प्यार है वहां इमोशनल होना जरूरी है, क्योंकि जब आपका अच्छा वक्त चल रहा होता है, ऐसे में तो एक साथ रहना आसान होता है, पर वही बुरी वक्त में यही भावनात्मक रिश्ता काम आता है, यदि मुश्किल हालात में बॉन्डिंग नजर न आए, तब अकेलेपन का अहसास होना लाजमी हो जाता है।

क्वालिटी टाइम स्पेंड न करना

जीवन में प्यार से बड़ा कुछ नही होता है, और आजकल की भागदौड़ भरी जिंदगी में इंसान को सांस लेने की फुर्सत भी काफी मुश्किल से मिलती है, और ऐसे में पार्नटर के लिए वक्त निकालना आज के समय में किसी चैलेंज से कम नहीं हो गया है, ऐसे में आप विकेंड या किसी फुर्सत के पलों में भी क्वालिटी टाइम स्पेंड नहीं कर रहे हैं तब फिर रिश्ते में खालीपन जरूर आ जाएगा।

दोनों की सोच न मिलना

आज के समय में आमतौर पर दो इंसान में कितनी भी समानता क्यों न हो, पर किसी न किसी मामले में दोनों की सोच अलग-अलग हो सकती है, ऐसे में यदि आप डिफरेंस ऑफ थॉट के साथ एडजस्ट नहीं कर पा रहे हैं तब अब आप साथ होकर भी अलग-अलग रहने लगते हैं।

अपने रिश्ते को बचाने के लिए आप वह सब करे जो आपसे बनता है, वह न करे जिसके लिए आपका दिल गवाही नहीं देता है।

व्हाट्सएप पर न्यूज़ घाट समाचार समूह से जुड़ने के लिए नीचे दिए लिंक को क्लिक करें।

Written by newsghat

डीएसपी रामकांत ठाकुर ने संभाला पांवटा साहिब के एसडीपीओ का पदभार

Karwa Chauth festival 2022: करवा चौथ पर पति की दीर्घायु की कामना करने वाली पत्नी को भूल से भी न दें इस तरह के गिफ्ट, होते हैं अशुभ

Karwa Chauth festival 2022: करवा चौथ पर पति की दीर्घायु की कामना करने वाली पत्नी को भूल से भी न दें इस तरह के गिफ्ट, होते हैं अशुभ