in

SBI Business Loan Scheme: बिजनेस शुरू करने के लिए SBI दे रहा है 50 लाख रुपए छोटा लोन, पढ़िए आप कैसे उठा सकते हैं फायदा

SBI Business Loan Scheme: बिजनेस शुरू करने के लिए SBI दे रहा है 50 लाख रुपए छोटा लोन, पढ़िए आप कैसे उठा सकते हैं फायदा

SBI Business Loan Scheme: अगर आप मैन्युफैक्चरिंग या ट्रेड और सर्विसेज बिजनेस के लिए वर्किंग कैपिटल लेना चाहते हैं तो एसबीआई की एसएमई स्मार्ट स्कोर लोन सुविधा के तहत 50 लाख रुपये तक का लोन आसानी से ले सकते हैं।

SBI Business Loan Scheme: बिजनेस शुरू करने के लिए SBI दे रहा है 50 लाख रुपए छोटा लोन, पढ़िए आप कैसे उठा सकते हैं फायदा

छोटे व्यवसाय के लिए ऋण

SBI स्कीम Small Business Loan: अगर आप भी कोई छोटा बिजनेस शुरू करना चाहते हैं तो स्टेट बैंक ऑफ इंडिया आपकी अच्छी मदद कर सकता है. अगर आप मैन्युफैक्चरिंग या ट्रेड और सर्विसेज बिजनेस के लिए वर्किंग कैपिटल लेना चाहते हैं तो SBI आपके लिए बेस्ट प्लान लेकर आया है। SBI की SME स्मार्ट स्कोर लोन सुविधा के तहत आप आसानी से 50 लाख रुपये तक का लोन ले सकते हैं.

Holi-2
Holi-2

ये लोग आवेदन करते हैं

आपको बता दें कि एसबीआई की ओर से एसएमई स्मार्ट स्कोर कैश क्रेडिट/टर्म लोन की सुविधा है। एमएसएमई क्षेत्र की कोई भी सार्वजनिक/निजी लिमिटेड कंपनी, साझेदारी फर्म या एसएसआई सीएंडआई और एसबीएफ खंड के तहत व्यापार और सेवा क्षेत्र ऋण सुविधा के लिए आवेदन कर सकती है। आप इस ऋण का उपयोग कार्यशील पूंजी के लिए कर सकते हैं।

ऋण कैसे प्राप्त करें

एसएमई स्मार्ट स्कोर में विनिर्माण, व्यापार और सेवा इकाइयों के लिए न्यूनतम 10 लाख रुपये और अधिकतम 50 लाख रुपये का ऋण उपलब्ध है। इसमें वर्किंग कैपिटल मार्जिन का 20 फीसदी और टर्म लोन का 33 फीसदी शामिल है। मुख्य प्रमोटर / मुख्य कार्यकारी एसएमई स्मार्ट स्कोर ऋण के लिए आवेदन कर सकते हैं। आपकी उम्र 18 साल से 65 साल के बीच होनी चाहिए।

यह प्रक्रिया है

एसबीआई बैंक के ईबीएलआर से जुड़ा है। इसकी फीस कर्ज की रकम का 0.40 फीसदी तय की गई है। इसमें कोई संपार्श्विक प्रतिभूति नहीं है। सभी ऋण सूक्ष्म और लघु उद्यमों के लिए क्रेडिट गारंटी फंड ट्रस्ट फंड (CGTMSE) के अंतर्गत आते हैं।

यह है ऋण अवधि

एसबीआई के मुताबिक, कैश क्रेडिट लोन की हर 2 साल में समीक्षा की जाएगी। साथ ही, आपके व्यवसाय की वार्षिक समीक्षा भी होगी। टर्म लोन/ड्रालाइन ओडी के लिए चुकौती अवधि 7 वर्ष से अधिक नहीं होगी। इसके बाद 6 महीने का समय (मोराटोरियम) दिया जा सकता है।

अगर आपको ये लेख पसंद आया है तो इसे लाइक करें, शेयर करें। अपना सुझाव अवश्य दें। ऐसे ही रोचक और जानकारी वर्धक सूचनाओं को पाने के लिए न्यूज़ घाट के फेसबुक पेज से जुड़ें। न्यूज़ घाट के फेसबुक से जुड़ने के लिए यहां दिए लिंक @newsghat पर क्लिक कर फेसबुक पेज लाइक करें। 

Written by Newsghat Desk

पांवटा साहिब में जलशक्ति कार्यालय के समक्ष कांग्रेस की जोरदार नारेबाजी

बद्रीपुर पंचायत से प्रधान पद के लिए राजवीर ने रामलाल को 476 मतों से हराया…