Paonta Cong
in

The Scholers Home School Paonta Sahib में पदमश्री वायलिन वादक कुमारी ए कन्याकुमारी ने संगीतमय किया माहौल

The Scholers Home School Paonta Sahib में पदमश्री वायलिन वादक कुमारी ए कन्याकुमारी ने संगीतमय किया माहौल

The Scholers Home School Paonta Sahib में पदमश्री वायलिन वादक कुमारी ए कन्याकुमारी ने संगीतमय किया माहौल

JPERC
JPERC

 

Admission notice

The Scholers Home School Paonta Sahib की प्रधानाचार्या निशा परमार ने बताया कि स्कूल के प्रांगण में विद्यार्थियों को भारतीय संस्कृति के प्रति जागरूक करने के लिए सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया गया।

जिसमें भारत सरकार द्वारा पदमश्री से सम्मानित प्रथम महिला वायलिन वादक कुमारी ए कन्याकुमारी ने अपनी बहुमुखी प्रतिभा को वायलिन के माध्यम से दर्शाया।

उनकी उपलब्धियों को स्कूल निदेशक गुरमीत कौर नारंग ने उपस्थित विद्यार्थियों के साथ सांझा किया। जिसमें उन्होंने बताया कि भारत सरकार द्वारा इन्हें 2015 में पद्मश्री सम्मान मिला।

उन्होंने बताया कि कुमारी ए कन्याकुमारी को ‘संगीत नाटक एकेडमी पुरस्कार, ‘ जैसे राज्य स्तरीय तथा राष्ट्र स्तरीय कई पुरस्कारों से सम्मानित किया गया तथा इनकी उपलब्धियों के लिए इन्हें लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड्स में भी चुना गया।

कुमारी ए कन्याकुमारी ने अपने सहयोगी कलाकारों जिसमें बैंगलोर वी प्रवीन (मृदंग), अनिरुद्ध अथरया (कंजीरा) विश्वेश चंद्रशेखर (वायलिन) की सहायता से विभिन्न भक्ति गीतों द्वारा उपस्थित कक्षा पांचवी से आठवीं तक के विद्यार्थियों एवं अध्यापकों का मन मोह लिया।

इस कार्यक्रम में विद्यार्थियों ने भी उनका साथ देते हुए कार्यक्रम का आनंद लिया तथा इस कार्यक्रम को एक यादगार कार्यक्रम बनाया।

इस अवसर पर उपस्थित स्कूल निदेशक नरेंद्र पाल सिंह नारंग ने भी उनकी इस कला की सराहना की तथा उन्हें स्कूल स्मारिका भेंट की।

देश दुनिया और वित्तीय जगत के ताजा समाचार जानने के लिए न्यूज़ घाट व्हाट्सएप समूह से जुड़े। नीचे दिए लिंक पर अभी क्लिक करें

Written by newsghat

HP Latest News: डिपो होल्डरों को गोदामों से राशन उठाने के निर्देश, जानें इस महीने डिपो में कितना राशन मिलेगा

HP Latest News: डिपो होल्डरों को गोदामों से राशन उठाने के निर्देश, जानें इस महीने डिपो में कितना राशन मिलेगा

Paonta Sahib News: ज़िला सिरमौर इंटक ने मजदूरों के हित में उठाई ये बड़ी मांग